Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Apr 2023 · 1 min read

विपक्ष से सवाल

हमें उम्मीद थी कि
अब जागोगे!
पता नहीं तुम लोग
कब जागोगे!!
मर जाएगा जब देश
सड़ जाएगा जब समाज!
लगता है तुम लोग
तब जागोगे!!
#विपक्ष #नौजवान #बुद्धिजीवी
#PulwamaAttack #Riots
#SatyapalMalik #opposition
#HallaBol #politics #hate
#protest #youths #unity
#एकता #एकजुट #लोकतंत्र #हक

Language: Hindi
322 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
Love is a physical modern time.
Love is a physical modern time.
Neeraj Agarwal
धर्म-कर्म (भजन)
धर्म-कर्म (भजन)
Sandeep Pande
एक है ईश्वर
एक है ईश्वर
Dr fauzia Naseem shad
सफलता
सफलता
Paras Nath Jha
स्मृतिशेष मुकेश मानस : टैलेंटेड मगर अंडररेटेड दलित लेखक / MUSAFIR BAITHA 
स्मृतिशेष मुकेश मानस : टैलेंटेड मगर अंडररेटेड दलित लेखक / MUSAFIR BAITHA 
Dr MusafiR BaithA
लोग कहते हैं खास ,क्या बुढों में भी जवानी होता है।
लोग कहते हैं खास ,क्या बुढों में भी जवानी होता है।
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
गर तुम हो
गर तुम हो
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
हिम्मत वो हुनर है , जो आपको कभी हारने नहीं देता।   नील रूहान
हिम्मत वो हुनर है , जो आपको कभी हारने नहीं देता। नील रूहान
Neelofar Khan
पिता के बिना सन्तान की, होती नहीं पहचान है
पिता के बिना सन्तान की, होती नहीं पहचान है
gurudeenverma198
23/60.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/60.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मेरे प्रिय पवनपुत्र हनुमान
मेरे प्रिय पवनपुत्र हनुमान
Anamika Tiwari 'annpurna '
दुनिया जमाने में
दुनिया जमाने में
manjula chauhan
तुम्हारी जय जय चौकीदार
तुम्हारी जय जय चौकीदार
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
हुनर है मुझमें
हुनर है मुझमें
Satish Srijan
नज़र का फ्लू
नज़र का फ्लू
आकाश महेशपुरी
हौसला
हौसला
Sanjay ' शून्य'
मित्रो नमस्कार!
मित्रो नमस्कार!
अटल मुरादाबादी, ओज व व्यंग कवि
क्या ये गलत है ?
क्या ये गलत है ?
Rakesh Bahanwal
100 से अधिक हिन्दी पत्र-पत्रिकाओं की पते:-
100 से अधिक हिन्दी पत्र-पत्रिकाओं की पते:-
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
Below the earth
Below the earth
Shweta Soni
सर्वनाम
सर्वनाम
Neelam Sharma
#शेर
#शेर
*प्रणय प्रभात*
निरुद्देश्य जीवन भी कोई जीवन होता है ।
निरुद्देश्य जीवन भी कोई जीवन होता है ।
ओनिका सेतिया 'अनु '
गैरों से कोई नाराजगी नहीं
गैरों से कोई नाराजगी नहीं
Harminder Kaur
गांव की बात निराली
गांव की बात निराली
जगदीश लववंशी
🚩🚩 कृतिकार का परिचय/
🚩🚩 कृतिकार का परिचय/ "पं बृजेश कुमार नायक" का परिचय
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मै ना सुनूंगी
मै ना सुनूंगी
भरत कुमार सोलंकी
स्थापित भय अभिशाप
स्थापित भय अभिशाप
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
*धन्य तुलसीदास हैं (मुक्तक)*
*धन्य तुलसीदास हैं (मुक्तक)*
Ravi Prakash
* मैं बिटिया हूँ *
* मैं बिटिया हूँ *
Mukta Rashmi
Loading...