Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

*वसंत गीत* ”आ नूतन कर श्रृंगार उषा”

*गीत*
कर हर्षित अब संसार उषा।
आ नूतन कर श्रृंगार उषा।

नभ मंडप में विस्तार वदन।
तम का कर सहचर साथ दमन।
मृदु सुषमा से महका मंजर।
आ अंबर से वसुधा के घर।
कर अभिनंदन स्वीकार उषा।
आ नूतन कर श्रंगार उषा।।१।।

वट मंजरि पल्लव फूलों में।
सर सरिता सागर कूलों में।
गुल पर तुहिनों के मोती धर।
वापी गिरि गव्हर स्वर्णिम कर।
दे कुदरत को निज प्यार उषा।
आ नूतन कर श्रंगार उषा।।२।।

वधु- वसन वसंती वदन पहन।
कर तृप्त नयन और अंतर्मन।।
सिर तरुओं सरसों का सहला।
संताप हरण कर छिटक कला।
खग कूजों की झंकार उषा।
आ नूतन कर श्रंगार उषा।।३।।

मदमत्त किये तरुणाई को।
आलिंगन दे अमराई को।
मधुमासी सुर्ख कपोलों को।
अधरों के छोड उसूलों को।
ले चूम मृदुल रुख्सार उषा।
आ नूतन कर श्रंगार उषा।।४।।

वन वीथि विहंगम कुंजों में।
लावल्य लसित मुख पुंजों में।
पधरा पग पावन डगर डगर।
आ शाख शाख आ शजर शजर।
कर स्पंदन संचार उषा।
आ नूतन कर श्रंगार उषा।।५।।

अंकित शर्मा ‘इषुप्रिय’

1 Like · 183 Views
You may also like:
रसिया यूक्रेन युद्ध विभीषिका
Ram Krishan Rastogi
मोहब्बत में दिल।
Taj Mohammad
✍️✍️असर✍️✍️
"अशांत" शेखर
जिंदगी का मशवरा
Krishan Singh
✍️आप क्यूँ लिखते है ?✍️
"अशांत" शेखर
=*तुम अन्न-दाता हो*=
Prabhudayal Raniwal
अल्फाज़ ए ताज भाग-5
Taj Mohammad
महाप्रभु वल्लभाचार्य जयंती
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
प्रयास
Dr.sima
वक्त अब कलुआ के घर का ठौर है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
अथर्व को जन्म दिन की शुभकामनाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️अग्निपथ...अग्निपथ...✍️
"अशांत" शेखर
शहीद की बहन और राखी
DESH RAJ
पिता:सम्पूर्ण ब्रह्मांड
Jyoti Khari
✍️मैं आज़ाद हूँ (??)✍️
"अशांत" शेखर
ग़ज़ल
Awadhesh Saxena
बस तुम को चाहते हैं।
Taj Mohammad
हृदय का सरोवर
सुनील कुमार
✍️मुमकिन था..!✍️
"अशांत" शेखर
आओ अब यशोदा के नन्द
शेख़ जाफ़र खान
मेरा गुरूर है पिता
VINOD KUMAR CHAUHAN
पुस्तक समीक्षा -एक थी महुआ
Rashmi Sanjay
कातिलाना अदा है।
Taj Mohammad
उम्मीदों के परिन्दे
Alok Saxena
मन के गाँव
Anamika Singh
अल्फाज़ हैं शिफा से।
Taj Mohammad
मैं और मांझी
Saraswati Bajpai
"जीवन"
Archana Shukla "Abhidha"
गीत - मुरझाने से क्यों घबराना
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
सुंदर बाग़
DESH RAJ
Loading...