Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Jul 2016 · 1 min read

वर्ण पिरामिड….

वर्ण पिरामिड में प्रथम प्रयास :

है
धूप
ही धूप
हर ओर
हुआ उजला
व्यर्थ गयी हाला
दगा दे गयी बाला

सुशील सरना

Language: Hindi
363 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ऊपर बने रिश्ते
ऊपर बने रिश्ते
विजय कुमार अग्रवाल
चेहरे की पहचान ही व्यक्ति के लिये मायने रखती है
चेहरे की पहचान ही व्यक्ति के लिये मायने रखती है
शेखर सिंह
मुझे लगा कि तुम्हारे लिए मैं विशेष हूं ,
मुझे लगा कि तुम्हारे लिए मैं विशेष हूं ,
Manju sagar
कम कमाना कम ही खाना, कम बचाना दोस्तो!
कम कमाना कम ही खाना, कम बचाना दोस्तो!
सत्य कुमार प्रेमी
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
*संपूर्ण रामचरितमानस का पाठ/ दैनिक रिपोर्ट*
Ravi Prakash
हम सब मिलकर, ऐसे यह दिवाली मनाये
हम सब मिलकर, ऐसे यह दिवाली मनाये
gurudeenverma198
10 Habits of Mentally Strong People
10 Habits of Mentally Strong People
पूर्वार्थ
इज़हार ए मोहब्बत
इज़हार ए मोहब्बत
Surinder blackpen
अनुराग
अनुराग
Bodhisatva kastooriya
गुरुजन को अर्पण
गुरुजन को अर्पण
Rajni kapoor
सुबह की पहल तुमसे ही
सुबह की पहल तुमसे ही
Rachana Jha
*बाढ़*
*बाढ़*
Dr. Priya Gupta
कैसा दौर आ गया है ज़ालिम इस सरकार में।
कैसा दौर आ गया है ज़ालिम इस सरकार में।
Dr. ADITYA BHARTI
भगवान
भगवान
Anil chobisa
हंसना आसान मुस्कुराना कठिन लगता है
हंसना आसान मुस्कुराना कठिन लगता है
Manoj Mahato
सबके राम
सबके राम
Sandeep Pande
قفس میں جان جائے گی ہماری
قفس میں جان جائے گی ہماری
Simmy Hasan
भारत को निपुण बनाओ
भारत को निपुण बनाओ
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
मिमियाने की आवाज
मिमियाने की आवाज
Dr Nisha nandini Bhartiya
कहते हैं लोग
कहते हैं लोग
हिमांशु Kulshrestha
बरगद और बुजुर्ग
बरगद और बुजुर्ग
Dr. Pradeep Kumar Sharma
23/158.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/158.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मेघ, वर्षा और हरियाली
मेघ, वर्षा और हरियाली
Ritu Asooja
" मुझे सहने दो "
Aarti sirsat
"कुछ तो गुना गुना रही हो"
Lohit Tamta
नारी तू नारायणी
नारी तू नारायणी
Dr.Pratibha Prakash
दादी दादा का प्रेम किसी भी बच्चे को जड़ से जोड़े  रखता है या
दादी दादा का प्रेम किसी भी बच्चे को जड़ से जोड़े रखता है या
Utkarsh Dubey “Kokil”
शारदीय नवरात्र
शारदीय नवरात्र
Neeraj Agarwal
■ कैसे भी पढ़ लो...
■ कैसे भी पढ़ लो...
*Author प्रणय प्रभात*
एकतरफा सारे दुश्मन माफ किये जाऐं
एकतरफा सारे दुश्मन माफ किये जाऐं
Maroof aalam
Loading...