Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Sep 2023 · 1 min read

वक्रतुंडा शुचि शुंदा सुहावना,

वक्रतुंडा शुचि शुंदा सुहावना,
रूप तुम्हारा अति मन भावना।
स्वर्ण मुकुट शोभे सिर माथे,
सब देवन में तुम नायक।
नीलम शर्मा ✍️

1 Like · 119 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जीवन में सबसे बड़ा प्रतिद्वंद्वी मैं स्वयं को मानती हूँ
जीवन में सबसे बड़ा प्रतिद्वंद्वी मैं स्वयं को मानती हूँ
ruby kumari
You can't AFFORD me
You can't AFFORD me
Vandana maurya
"सहारा"
Dr. Kishan tandon kranti
अवध से राम जाते हैं,
अवध से राम जाते हैं,
अनूप अम्बर
छेड़ कोई तान कोई सुर सजाले
छेड़ कोई तान कोई सुर सजाले
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
ख़ामोशी जो पढ़ सके,
ख़ामोशी जो पढ़ सके,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
धानी चूनर में लिपटी है धरती जुलाई में
धानी चूनर में लिपटी है धरती जुलाई में
Anil Mishra Prahari
क्षणिकाए - व्यंग्य
क्षणिकाए - व्यंग्य
Sandeep Pande
जो पहले ही कदमो में लडखडा जाये
जो पहले ही कदमो में लडखडा जाये
Swami Ganganiya
क्या रखा है? वार में,
क्या रखा है? वार में,
Dushyant Kumar
प्रयोग
प्रयोग
Dr fauzia Naseem shad
वर्तमान, अतीत, भविष्य...!!!!
वर्तमान, अतीत, भविष्य...!!!!
Jyoti Khari
💐अज्ञात के प्रति-96💐
💐अज्ञात के प्रति-96💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
उदर क्षुधा
उदर क्षुधा
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
😢लिव इन रिलेशनशिप😢
😢लिव इन रिलेशनशिप😢
*Author प्रणय प्रभात*
नेता सोये चैन से,
नेता सोये चैन से,
sushil sarna
प्यार हुआ कैसे और क्यूं
प्यार हुआ कैसे और क्यूं
Parvat Singh Rajput
अगर मेरी मोहब्बत का
अगर मेरी मोहब्बत का
श्याम सिंह बिष्ट
क्या चाहती हूं मैं जिंदगी से
क्या चाहती हूं मैं जिंदगी से
Harminder Kaur
बरसात (विरह)
बरसात (विरह)
लक्ष्मी सिंह
रास्तो के पार जाना है
रास्तो के पार जाना है
Vaishaligoel
चलो मतदान कर आएँ, निभाएँ फर्ज हम अपना।
चलो मतदान कर आएँ, निभाएँ फर्ज हम अपना।
डॉ.सीमा अग्रवाल
शहीद रामफल मंडल गाथा।
शहीद रामफल मंडल गाथा।
Acharya Rama Nand Mandal
तिरंगा बोल रहा आसमान
तिरंगा बोल रहा आसमान
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
जीवनसाथी
जीवनसाथी
Rajni kapoor
*खुशी मनाती आज अयोध्या, रामलला के आने की (हिंदी गजल)*
*खुशी मनाती आज अयोध्या, रामलला के आने की (हिंदी गजल)*
Ravi Prakash
अब न करेगे इश्क और न करेगे किसी की ग़ुलामी,
अब न करेगे इश्क और न करेगे किसी की ग़ुलामी,
Vishal babu (vishu)
मैं तो महज एहसास हूँ
मैं तो महज एहसास हूँ
VINOD CHAUHAN
3115.*पूर्णिका*
3115.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
The greatest luck generator - show up
The greatest luck generator - show up
पूर्वार्थ
Loading...