Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Dec 2023 · 1 min read

आज वक्त हूं खराब

अभी वक्त हूं खराब, कल बीत जाऊंगा,
अपने पुराने रंग में, फिर लौट आऊंगा।

आज शौक से उड़ा लो, मजाक तुम मेरा,
कल बदलेगा जमाना, मैं भी मुस्कुराऊंगा।
…..अभी वक्त हूं खराब कल बीत जाऊंगा,

जल्द आयेगी समझ में, तुम्हें मेरी कीमत ,
जब तुम्हे मैं तुम्हारी, औकात दिखाऊंगा।
….अभी वक्त हूं खराब, कल बीत जाऊंगा,

मेरी मुफलिसी में मुझको, आजमा रहे हो,
तेरी शौहरत को मैं भी, खूब आजमाऊंगा।
………अभी वक्त हूं खराब, कल बीत जाऊंगा,

तुम याद से मेरा, ये बुरा वक्त याद रखना,
कभी तेरा भी वक्त होगा, याद दिलाऊंगा।
……….अभी वक्त हूं खराब, कल बीत जाऊंगा,

@साहित्य गौरव

Language: Hindi
2 Likes · 652 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
*रामलला त्रेता में जन्में, पूर्ण ब्रह्म अवतार हैं (हिंदी गजल
*रामलला त्रेता में जन्में, पूर्ण ब्रह्म अवतार हैं (हिंदी गजल
Ravi Prakash
क्षणभंगुर
क्षणभंगुर
Vivek Pandey
बुजुर्ग ओनर किलिंग
बुजुर्ग ओनर किलिंग
Mr. Rajesh Lathwal Chirana
Plastic Plastic Everywhere.....
Plastic Plastic Everywhere.....
R. H. SRIDEVI
ज़ख़्म ही देकर जाते हो।
ज़ख़्म ही देकर जाते हो।
Taj Mohammad
आज का चयनित छंद
आज का चयनित छंद"रोला"अर्ध सम मात्रिक
rekha mohan
अकाल काल नहीं करेगा भक्षण!
अकाल काल नहीं करेगा भक्षण!
Neelam Sharma
ଡାକ ଆଉ ଶୁଭୁ ନାହିଁ ହିଆ ଓ ଜଟିଆ
ଡାକ ଆଉ ଶୁଭୁ ନାହିଁ ହିଆ ଓ ଜଟିଆ
Bidyadhar Mantry
पद्धरि छंद ,अरिल्ल छंद , अड़िल्ल छंद विधान व उदाहरण
पद्धरि छंद ,अरिल्ल छंद , अड़िल्ल छंद विधान व उदाहरण
Subhash Singhai
सहचार्य संभूत रस = किसी के साथ रहते रहते आपको उनसे प्रेम हो
सहचार्य संभूत रस = किसी के साथ रहते रहते आपको उनसे प्रेम हो
राज वीर शर्मा
भोले नाथ है हमारे,
भोले नाथ है हमारे,
manjula chauhan
वेलेंटाइन डे रिप्रोडक्शन की एक प्रेक्टिकल क्लास है।
वेलेंटाइन डे रिप्रोडक्शन की एक प्रेक्टिकल क्लास है।
Rj Anand Prajapati
मोहब्बत आज भी अधूरी है….!!!!
मोहब्बत आज भी अधूरी है….!!!!
Jyoti Khari
3159.*पूर्णिका*
3159.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
10. जिंदगी से इश्क कर
10. जिंदगी से इश्क कर
Rajeev Dutta
हमारा सफ़र
हमारा सफ़र
Manju sagar
फूल खिलते जा रहे हैं हो गयी है भोर।
फूल खिलते जा रहे हैं हो गयी है भोर।
surenderpal vaidya
लम्बा पर सकडा़ सपाट पुल
लम्बा पर सकडा़ सपाट पुल
Seema gupta,Alwar
इस क्षितिज से उस क्षितिज तक देखने का शौक था,
इस क्षितिज से उस क्षितिज तक देखने का शौक था,
Smriti Singh
लोग दुर चले जाते पर,
लोग दुर चले जाते पर,
Radha jha
"अकेला"
Dr. Kishan tandon kranti
ये दुनिया घूम कर देखी
ये दुनिया घूम कर देखी
Phool gufran
क्षमा अपनापन करुणा।।
क्षमा अपनापन करुणा।।
Kaushal Kishor Bhatt
हार पर प्रहार कर
हार पर प्रहार कर
Saransh Singh 'Priyam'
Today's Thought
Today's Thought
DR ARUN KUMAR SHASTRI
!! कोई आप सा !!
!! कोई आप सा !!
Chunnu Lal Gupta
बेवफाई करके भी वह वफा की उम्मीद करते हैं
बेवफाई करके भी वह वफा की उम्मीद करते हैं
Anand Kumar
कितने हीं ज़ख्म हमें छिपाने होते हैं,
कितने हीं ज़ख्म हमें छिपाने होते हैं,
Shweta Soni
అమ్మా దుర్గా
అమ్మా దుర్గా
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
प्रेम मे धोखा।
प्रेम मे धोखा।
Acharya Rama Nand Mandal
Loading...