Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
26 Mar 2023 · 1 min read

वक़्त के शायरों से एक अपील

शायरी करो तो ब्रेख्त की तरह
वर्ना बेहतर है कुछ और करो
तुम अपने दौर के तक़ाज़ों पर
मेरे हम-अस्रों, थोड़ा ग़ौर करो…
(१)
अपनी गैरत को मत कुचलो
अपने ज़मीर को मत बेचो
अपने उसूलों से समझौता
ख़ुदा-रा मत किसी तौर करो
शायरी करो तो फ़ैज़ की तरह
वर्ना बेहतर है कुछ और करो…
(२)
जेल जाने के खौफ से या
ईनाम पाने की लालच में
अपने वक़ार से समझौता
ख़ुदा-रा मत किसी तौर करो
शायरी करो तो जालिब की तरह
वर्ना बेहतर है कुछ और करो…
(३)
अपने देश और समाज के
जलते हुए सवालों पर
अपनी ख़ुद्दारी से समझौता
ख़ुदा-रा मत किसी तौर करो
शायरी करो तो दुष्यंत की तरह
वर्ना बेहतर है कुछ और करो…
(४)
मर्सिया लिखो अवाम का
हुक़्काम का कसीदा नहीं
अपने वजूद से समझौता
ख़ुदा-रा मत किसी तौर करो
शायरी करो तो पाश की तरह
वर्ना बेहतर है कुछ और करो…
(५)
अपनी अगली नस्लों के
रोशन मुस्तकबिल के लिए
अपनी ख़ुदी से समझौता
ख़ुदा-रा मत किसी तौर करो
शायरी करो तो गोरख की तरह
वर्ना बेहतर है कुछ और करो…
(६)
सब कुछ देख रहा इतिहास
वह न करेगा हरगिज़ माफ़
अपने ज़ेहन से समझौता
ख़ुदा-रा मत किसी तौर करो
शायरी करो तो अदम की तरह
वर्ना बेहतर है कुछ और करो…
#Geetkar
Shekhar Chandra Mitra
#फनकार #सवाली #democracy
#गरीब #Opposition #politics
#bollywood #हल्लाबोल #youths
#poetry #political #rebel #truth
#lyricist #इंकलाब #बगावत #विद्रोही
#कवि #गीतकार #क्रांतिकारी #सियासी

Language: Hindi
Tag: गीत
331 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सोच
सोच
Shyam Sundar Subramanian
शरद पूर्णिमा पर्व है,
शरद पूर्णिमा पर्व है,
Satish Srijan
हमने किस्मत से आंखें लड़ाई मगर
हमने किस्मत से आंखें लड़ाई मगर
VINOD CHAUHAN
दो अक्षर में कैसे बतला दूँ
दो अक्षर में कैसे बतला दूँ
Harminder Kaur
जन्मदिन पर आपके दिल से यही शुभकामना।
जन्मदिन पर आपके दिल से यही शुभकामना।
सत्य कुमार प्रेमी
FUSION
FUSION
पूर्वार्थ
कविता - छत्रछाया
कविता - छत्रछाया
Vibha Jain
मोहब्बत-ए-सितम
मोहब्बत-ए-सितम
Neeraj Mishra " नीर "
■ अब सब समझदार हैं मितरों!!
■ अब सब समझदार हैं मितरों!!
*प्रणय प्रभात*
"नेशनल कैरेक्टर"
Dr. Kishan tandon kranti
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
अपनी स्टाईल में वो,
अपनी स्टाईल में वो,
Dr. Man Mohan Krishna
2680.*पूर्णिका*
2680.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
मुश्किल हालात हैं
मुश्किल हालात हैं
शेखर सिंह
राजनीति
राजनीति
Bodhisatva kastooriya
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
कैसे हमसे प्यार करोगे
कैसे हमसे प्यार करोगे
KAVI BHOLE PRASAD NEMA CHANCHAL
ॐ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
जिस प्रकार लोहे को सांचे में ढालने पर उसका  आकार बदल  जाता ह
जिस प्रकार लोहे को सांचे में ढालने पर उसका आकार बदल जाता ह
Jitendra kumar
When winter hugs
When winter hugs
Bidyadhar Mantry
बह्र ....2122  2122  2122  212
बह्र ....2122 2122 2122 212
Neelofar Khan
बीड़ी की बास
बीड़ी की बास
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
वक्त बर्बाद करने वाले को एक दिन वक्त बर्बाद करके छोड़ता है।
वक्त बर्बाद करने वाले को एक दिन वक्त बर्बाद करके छोड़ता है।
Paras Nath Jha
रोना ना तुम।
रोना ना तुम।
Taj Mohammad
बाल कविता: तितली
बाल कविता: तितली
Rajesh Kumar Arjun
खालीपन
खालीपन
करन ''केसरा''
*चार दिन की जिंदगी में ,कौन-सा दिन चल रहा ? (गीत)*
*चार दिन की जिंदगी में ,कौन-सा दिन चल रहा ? (गीत)*
Ravi Prakash
दिल लगाया है जहाॅं दिमाग न लगाया कर
दिल लगाया है जहाॅं दिमाग न लगाया कर
Manoj Mahato
कुत्ते / MUSAFIR BAITHA
कुत्ते / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
राम राज्य
राम राज्य
Shriyansh Gupta
Loading...