Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Jul 2023 · 1 min read

लोग कह रहे हैं आज कल राजनीति करने वाले कितने गिर गए हैं!

लोग कह रहे हैं आज कल राजनीति करने वाले कितने गिर गए हैं!

अरे भाई, यह केवल राजनीति के चरित्र की गिरावट नहीं है। यह हमारे आपके चरित्र की गिरावट का रिज़ल्ट भी है।
मेरी कलम से…
आनन्द कुमार

269 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
💐प्रेम कौतुक-563💐
💐प्रेम कौतुक-563💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मौन
मौन
निकेश कुमार ठाकुर
हमदम का साथ💕🤝
हमदम का साथ💕🤝
डॉ० रोहित कौशिक
डा. अम्बेडकर बुद्ध से बड़े थे / पुस्तक परिचय
डा. अम्बेडकर बुद्ध से बड़े थे / पुस्तक परिचय
Dr MusafiR BaithA
हर रोज़ यहां से जो फेंकता है वहां तक।
हर रोज़ यहां से जो फेंकता है वहां तक।
*Author प्रणय प्रभात*
मेरे प्रेम पत्र 3
मेरे प्रेम पत्र 3
विजय कुमार नामदेव
वक़्त के साथ वो
वक़्त के साथ वो
Dr fauzia Naseem shad
जब कभी मन हारकर के,या व्यथित हो टूट जाए
जब कभी मन हारकर के,या व्यथित हो टूट जाए
Yogini kajol Pathak
माफी
माफी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
वादा
वादा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
மறுபிறவியின் உண்மை
மறுபிறவியின் உண்மை
Shyam Sundar Subramanian
रफ़्ता रफ़्ता (एक नई ग़ज़ल)
रफ़्ता रफ़्ता (एक नई ग़ज़ल)
Vinit kumar
रात के सितारे
रात के सितारे
Neeraj Agarwal
ब्याहता
ब्याहता
Dr. Kishan tandon kranti
!! आशा जनि करिहऽ !!
!! आशा जनि करिहऽ !!
Chunnu Lal Gupta
लोग कहते हैं खास ,क्या बुढों में भी जवानी होता है।
लोग कहते हैं खास ,क्या बुढों में भी जवानी होता है।
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
मेरा जीने का तरीका
मेरा जीने का तरीका
पूर्वार्थ
2730.*पूर्णिका*
2730.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
पुकारती है खनकती हुई चूड़ियाँ तुमको।
पुकारती है खनकती हुई चूड़ियाँ तुमको।
Neelam Sharma
*सुंदर दिखना अगर चाहते, भजो राम का नाम (गीत)*
*सुंदर दिखना अगर चाहते, भजो राम का नाम (गीत)*
Ravi Prakash
जो मासूम हैं मासूमियत से छल रहें हैं ।
जो मासूम हैं मासूमियत से छल रहें हैं ।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
मोहब्बत में मोहब्बत से नजर फेरा,
मोहब्बत में मोहब्बत से नजर फेरा,
goutam shaw
छाती पर पत्थर /
छाती पर पत्थर /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
ऐ,चाँद चमकना छोड़ भी,तेरी चाँदनी मुझे बहुत सताती है,
ऐ,चाँद चमकना छोड़ भी,तेरी चाँदनी मुझे बहुत सताती है,
Vishal babu (vishu)
दिल हो काबू में....😂
दिल हो काबू में....😂
Jitendra Chhonkar
और नहीं बस और नहीं, धरती पर हिंसा और नहीं
और नहीं बस और नहीं, धरती पर हिंसा और नहीं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
चलो रे काका वोट देने
चलो रे काका वोट देने
gurudeenverma198
सुकर्म से ...
सुकर्म से ...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
अलविदा
अलविदा
ruby kumari
खरगोश
खरगोश
SHAMA PARVEEN
Loading...