Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jul 2016 · 1 min read

रूठ कर यूँ हमें मत सताया करो

रूठ कर यूँ हमें मत सताया करो
प्यार हैं हम हमें तुम मनाया करो

ये सुना है बड़े कामकाजी हो तुम
आँसुओं की भी कीमत लगाया करो

जी रहे हैं यहाँ बस तुम्हें देखकर
रुख से पर्दा कभी तो हटाया करो

तुम अँधेरे मिटाने हमारे लिये
चाँद पूनम का बन जगमगाया करो

साथ बेटों के भी अब सुनो साथियों
बेटियाँ खूब अपनी पढ़ाया करो

जब भुला तुमने हमको दिया ‘अर्चना’
ख्वाब में भी हमारे न आया करो
डॉ अर्चना गुप्ता

8 Comments · 578 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr Archana Gupta
View all
You may also like:
छोड़ दूं क्या.....
छोड़ दूं क्या.....
Ravi Ghayal
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
बेवफाई करके भी वह वफा की उम्मीद करते हैं
बेवफाई करके भी वह वफा की उम्मीद करते हैं
Anand Kumar
आजावो माँ घर,लौटकर तुम
आजावो माँ घर,लौटकर तुम
gurudeenverma198
देश खोखला
देश खोखला
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
अर्जक
अर्जक
Mahender Singh
#बात_बेबात-
#बात_बेबात-
*Author प्रणय प्रभात*
༺♥✧
༺♥✧
Satyaveer vaishnav
हारिये न हिम्मत तब तक....
हारिये न हिम्मत तब तक....
कृष्ण मलिक अम्बाला
भारत सनातन का देश है।
भारत सनातन का देश है।
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
जब हम गरीब थे तो दिल अमीर था
जब हम गरीब थे तो दिल अमीर था "कश्यप"।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
"जलाओ दीप घंटा भी बजाओ याद पर रखना
आर.एस. 'प्रीतम'
मुक्तक
मुक्तक
sushil sarna
अब किसी की याद पर है नुक़्ता चीनी
अब किसी की याद पर है नुक़्ता चीनी
Sarfaraz Ahmed Aasee
जीवन पुष्प की बगिया
जीवन पुष्प की बगिया
Buddha Prakash
हे माँ अम्बे रानी शेरावाली
हे माँ अम्बे रानी शेरावाली
Basant Bhagawan Roy
जो थक बैठते नहीं है राहों में
जो थक बैठते नहीं है राहों में
REVATI RAMAN PANDEY
वक़्त के साथ
वक़्त के साथ
Dr fauzia Naseem shad
आज़ाद जयंती
आज़ाद जयंती
Satish Srijan
सच तो हम इंसान हैं
सच तो हम इंसान हैं
Neeraj Agarwal
दोहा -
दोहा -
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
विकास का ढिंढोरा पीटने वाले ,
विकास का ढिंढोरा पीटने वाले ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
बाल कविता: 2 चूहे मोटे मोटे (2 का पहाड़ा, शिक्षण गतिविधि)
बाल कविता: 2 चूहे मोटे मोटे (2 का पहाड़ा, शिक्षण गतिविधि)
Rajesh Kumar Arjun
महज़ एक गुफ़्तगू से.,
महज़ एक गुफ़्तगू से.,
Shubham Pandey (S P)
सर्वे भवन्तु सुखिन:
सर्वे भवन्तु सुखिन:
Shekhar Chandra Mitra
रंगों की बारिश (बाल कविता)
रंगों की बारिश (बाल कविता)
Ravi Prakash
जीना सीख लिया
जीना सीख लिया
Anju ( Ojhal )
ज्योतिर्मय
ज्योतिर्मय
Pratibha Pandey
"सार"
Dr. Kishan tandon kranti
हर हाल मे,जिंदा ये रवायत रखना।
हर हाल मे,जिंदा ये रवायत रखना।
पूर्वार्थ
Loading...