Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jul 2016 · 1 min read

रूठ कर यूँ हमें मत सताया करो

रूठ कर यूँ हमें मत सताया करो
प्यार हैं हम हमें तुम मनाया करो

ये सुना है बड़े कामकाजी हो तुम
आँसुओं की भी कीमत लगाया करो

जी रहे हैं यहाँ बस तुम्हें देखकर
रुख से पर्दा कभी तो हटाया करो

तुम अँधेरे मिटाने हमारे लिये
चाँद पूनम का बन जगमगाया करो

साथ बेटों के भी अब सुनो साथियों
बेटियाँ खूब अपनी पढ़ाया करो

जब भुला तुमने हमको दिया ‘अर्चना’
ख्वाब में भी हमारे न आया करो
डॉ अर्चना गुप्ता

8 Comments · 488 Views
You may also like:
ख्वाहिश
Anamika Singh
ऐ बादल अब तो बरस जाओ ना
नूरफातिमा खातून नूरी
Shayri
श्याम सिंह बिष्ट
क़ैद में 15 वर्षों तक पृथ्वीराज और चंदबरदाई जीवित थे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
यही तो इश्क है पगले
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
👌🥀🌺आप में कोई जादू तो है🌺🥀👌
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हो गयी आज तो हद यादों की
Anis Shah
तमन्ना अनूप
Dr.sima
💐 देह दलन 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सच
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
दर्द हमने ले लिया है।
Taj Mohammad
गांव शहर और हम ( कर्मण्य)
Shyam Pandey
अब तक मैं
gurudeenverma198
कैसी ख्वाईश अब
गायक और लेखक अजीत कुमार तलवार
वो पहलू में आयें तभी बात होगी।
सत्य कुमार प्रेमी
अपनी जिंदगी
Ashok Sundesha
Little sister
Buddha Prakash
गजल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
ख़्वाहिश पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
" बेशकीमती थैला"
Dr Meenu Poonia
वर्तमान परिवेश और बच्चों का भविष्य
Mahender Singh Hans
✍️पढ़ना ही पड़ेगा ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
असत्य पर सत्य की जीत
VINOD KUMAR CHAUHAN
'वर्षा ऋतु'
Godambari Negi
नारी (कुंडलिया)
Ravi Prakash
आदर्श पिता
विजय कुमार अग्रवाल
यह नज़र का खेल है
Shivkumar Bilagrami
ख़ुलूसो - अम्न के साए में काम करती हूँ
Dr Archana Gupta
✍️चार कदम जिंदगी✍️
'अशांत' शेखर
बँटवारे का दर्द
मनोज कर्ण
Loading...