Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jun 2016 · 1 min read

राज दिल में हमें ये छुपाना पड़ा

राज दिल में हमें ये छुपाना पड़ा
याद को आशियाना बनाना पड़ा

ठोकरें खूब मिलती रहीं राह में
बोझ उनका हमें खुद उठाना पड़ा

अश्क पी -पी के हम जी रहे हैं यहाँ
उनकी खातिर हमें मुस्कुराना पड़ा

जब नज़र से उन्होंने निवेदन किया
गीत फिर प्यार का इक सुनाना पड़ा

रोज सपनों में आने का वादा किया
रात क्या दिन में खुद को सुलाना पड़ा

अर्चना इस जुदाई को सहना कठिन
उनको झूठी खबर से बुलाना पड़ा

2 Comments · 315 Views
You may also like:
💐 माये नि माये 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
देश के नौजवानों
Anamika Singh
یہ سوکھے ہونٹ سمندر کی مہربانی
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
सलामत् रहे ....
shabina. Naaz
बाल कहानी- वादा
SHAMA PARVEEN
हे कृष्ण! फिर से धरा पर अवतार करो।
लक्ष्मी सिंह
संगीत
Surjeet Kumar
✍️क्या सीखा ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
*भारत जिंदाबाद (गीत)*
Ravi Prakash
लश्क़र देखो
Dr. Sunita Singh
ख़्वाहिश है तेरी
VINOD KUMAR CHAUHAN
आखिरी शब्द
Pooja Singh
अजी मोहब्बत है।
Taj Mohammad
✍️प्रेम खेळ नाही बाहुल्यांचा✍️
'अशांत' शेखर
"शिवाजी और उनके द्वारा किए समाज सुधार के कार्य"
Pravesh Shinde
निस्वार्थ पापा
Shubham Shankhydhar
देश के हित मयकशी करना जरूरी है।
सत्य कुमार प्रेमी
मुख़ौटा_ओढ़कर
N.ksahu0007@writer
करनी होगी जंग ( गीत)
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
रहे मुहब्बत सदा ही रौशन..
अश्क चिरैयाकोटी
“ एक अमर्यादित शब्द के बोलने से महानायक खलनायक बन...
DrLakshman Jha Parimal
जान जाती है उसके जाने से ।
Dr fauzia Naseem shad
जिसकी फितरत वक़्त ने, बदल दी थी कभी, वो हौसला...
Manisha Manjari
विभिन्न–विभिन्न दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हिंदी का गुणगान
जगदीश लववंशी
जाम से नही,आंखो से पिला दो
Ram Krishan Rastogi
विश्व फादर्स डे पर शुभकामनाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"योग करो"
Ajit Kumar "Karn"
मोबाइल का आशिक़
आकाश महेशपुरी
बौद्ध राजा रावण
Shekhar Chandra Mitra
Loading...