Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Oct 2016 · 1 min read

राजयोगमहागीता:: ध्यान निराकार से तो सुगम साकारकर: जितेन्द्र कमलआनंद( पोस्ट५९)

प्रभु प्रणाम
————-
ध्यान निराकार से तो सुगम साकार कर ,
ह्रदय में सुभावना मोक्ष की जगाइए ।
देवकी के वत्स , मॉ यशोदा के दुलारे रहे,
कृष्णकी सद्भावना , सुधारणा धराइए ।
ध्यान – घाट बैठ बैठ , नित्य सुमिरन कर ,
अंतस में ध्यान परमब्रह्म का लगाइए ।
परम आश्रय सच्चिदानंद – सानिध्य से जो-
मिले वो आनंद रस रस बरसाइए ।।

—– जितेंद्रकमलआनंद

Language: Hindi
Tag: कविता
148 Views
You may also like:
चाहत की बाते
Dr. Sunita Singh
*!* हट्टे - कट्टे चट्टे - बट्टे *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
जिम्मेदारी किसकी?
Shekhar Chandra Mitra
सपनों में खोए अपने
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
अवगुणों पर सद्गुणों की जीत का प्रतीक है दशहरा
gurudeenverma198
कोई तो जाके उसे मेरे दिल का हाल समझाये...!!
Ravi Malviya
धरती की अंगड़ाई
श्री रमण 'श्रीपद्'
*एक आदमी आम (गीत)*
Ravi Prakash
प्रार्थना(कविता)
श्रीहर्ष आचार्य
✍️हम भी कुछ थे✍️
'अशांत' शेखर
पिता एक सूरज
डॉ. शिव लहरी
वो पहली नजर का इश्क
N.ksahu0007@writer
बड़े दिनों के बाद मिले हो
Kaur Surinder
मै और तुम ( हास्य व्यंग )
Ram Krishan Rastogi
" tyranny of oppression "
DESH RAJ
मै हिम्मत नही हारी
Anamika Singh
सत्यमंथन
मनोज कर्ण
=*बुराई का अन्त*=
Prabhudayal Raniwal
सैनिक
AMRESH KUMAR VERMA
ये शिक्षामित्र है भाई कि इसमें जान थोड़ी है
आकाश महेशपुरी
🚩सहज बने गह ज्ञान,वही तो सच्चा हीरा है ।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
तुम से मिलना था मिल नही पाये
Dr fauzia Naseem shad
किसे फर्क पड़ता है।(कविता)
sangeeta beniwal
तुम्हारा प्यार अब नहीं मिलता।
सत्य कुमार प्रेमी
“सावधान व्हाट्सप्प मित्र ”
DrLakshman Jha Parimal
सच बोलो
shabina. Naaz
मज़ाक।
Taj Mohammad
553 बां प़काश पर्व गुरु नानक देव जी का जन्म...
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
राम घोष गूंजें नभ में
शेख़ जाफ़र खान
रुक्सत रुक्सत बदल गयी तू
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
Loading...