Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 24, 2019 · 1 min read

राजनीति:- बदलती निष्ठा बदलती विचारधारा

पार्टी बदले, बदले नेता
क्षण में बदल जाये विचारधारा
ढंग न बदला राजनीति का
तो फिर क्या बदला ?

चुनाव का शोर
कार्यकर्ता-समर्थक ढोते विचारधारा
नेता झट पार्टी बदले, बदले निष्ठा
नारे बदल जाते है झंडे बदल जाते है
नीति रही जैसी की तैसी
तो फिर क्या बदला?

जातिवाद घटे न तिलभर
द्वेष राग का आकार बढ़ें
राजाओं रानियों ने सिद्धांत नीति को
निज अनुरूप गढ़ा
पार्टी बदले, भाषण बदले
बदल गई भाषा
व्यवहार रहा जैसे का तैसा
तो फिर क्या बदला?

बंद मुट्ठियों में जिन हाथों
थी सूबे की सत्ता
नाच रही उनके ही आँगन
बदले अपना रूप
मोहरे बदले, चालें बदलें
बदल गई बाजी
दाँव लगी निष्ठा और विचारधारा की,
तो फिर क्या बदला?

1 Like · 248 Views
You may also like:
Accept the mistake
Buddha Prakash
तमाशाई बन गए हैं।
Taj Mohammad
The moon descended into the lake.
Manisha Manjari
किसी को भूल कर
Dr fauzia Naseem shad
मोरे मन-मंदिर....।
Kanchan Khanna
हम है गरीब घर के बेटे
Swami Ganganiya
कोई चाहने वाला होता।
Taj Mohammad
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग६]
Anamika Singh
कोई ना अपना रहनुमां है।
Taj Mohammad
मजदूर- ए- औरत
AMRESH KUMAR VERMA
दंगा पीड़ित
Shyam Pandey
कवि की नज़र से - पानी
बिमल
झूठे गुरुर में जीते हैं।
Taj Mohammad
चाह इंसानों की
AMRESH KUMAR VERMA
गजल सी रचना
Kanchan Khanna
“ अमिट संदेश ”
DrLakshman Jha Parimal
रूको भला तब जाना
Varun Singh Gautam
जीवन-रथ के सारथि_पिता
मनोज कर्ण
बेड़ियाँ
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
आंसू
Harshvardhan "आवारा"
इश्क का दरिया
Anamika Singh
तेरी यादें मुझे सोने नहीं देती
Ram Krishan Rastogi
पुस्तक समीक्षा
Rashmi Sanjay
हम भूल तो नहीं सकते
Dr fauzia Naseem shad
# किताब ....
Chinta netam " मन "
नन्हा बीज
मनोज कर्ण
गम देके।
Taj Mohammad
पैसों से नेकियाँ बनाता है।
Taj Mohammad
*अनुशासन के पर्याय अध्यापक श्री लाल सिंह जी : शत...
Ravi Prakash
सुरत और सिरत
Anamika Singh
Loading...