Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Mar 2017 · 1 min read

ये साल नया सा ऐसा हो…

ये साल नया सा ऐसा हो,,,खुशियो से भरा भरा सा हो….
गम के आँसू न आँखों में हो,,,मुस्कान लबो पे न झूठी हो….
जीवन में न कोई निराशा हो,,,दिल में न कोई रोष हो…
हो अगर तो खुशियों के आँसू,,,,मुस्कान लबों पे सच्ची हो…
जीवन में नयी उमंगें हो…दिल में संजीदा यादें हो….

हम तुम मिले गर्मजोशी हो,,,कटुता की न भाषा हो….
विवाद वाद से होने लगे और वाद संवाद से हर पल हो…
ये साल नया सा ऐसा हो,,,शांति प्रेम का बसेरा हो….
चाहकर भी आतंक कही न हो,,,कोई गोली बारूद न किसी सर पर हो…
सब राह बुरी तज जाये यार,,,वाद आतंक न नक्सल हो…

लहू बहे न उनका कोई,,,इक कतरा लहू न हमारा हो…
सरहद के दोनों और प्रेम हो,,,न कि लाशों के फिर ढेर हो…
हम तुम आगे बढे,,, चन्द्र मंगल सब नाप चले….
अच्छाई की प्रतिस्पर्धा हो आगे बढ़ने की बस महत्ता हो…
हम गिरे न तुम साथ तजो,,,,तुम फिसले हम थाम चले….
आपसी सहयोग परस्पर बना रहे,,,तुम अल्लाह कहो हम राम कहे…

न फिर कोई दामिनी बने,,,,न कोई आँचल फिर दाग़ सहे…
मन में सबके अपना परिवार रहे,,,,न कोई आँख उठे न कोई दुराचार करे…
ये साल नया सा ऐसा हो,,,बस ख़ुशियों से भरा भरा सा हो…
शांति प्रेम साकार रहे,,,,और हर लब बस मुस्कान खिले….

मुबारक हो नया साल….
(2017 मुबारक? हो)

आपका
अरविन्द दाँगी “विकल”
9165913773

Language: Hindi
573 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
एक महिला की उमर और उसकी प्रजनन दर उसके शारीरिक बनावट से साफ
एक महिला की उमर और उसकी प्रजनन दर उसके शारीरिक बनावट से साफ
Rj Anand Prajapati
!! सोपान !!
!! सोपान !!
Chunnu Lal Gupta
राष्ट्रीय गणित दिवस
राष्ट्रीय गणित दिवस
Tushar Jagawat
जागो बहन जगा दे देश 🙏
जागो बहन जगा दे देश 🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
दर्द की धुन
दर्द की धुन
Sangeeta Beniwal
तुम ही सुबह बनारस प्रिए
तुम ही सुबह बनारस प्रिए
विकास शुक्ल
मन तो मन है
मन तो मन है
Pratibha Pandey
पागल
पागल
Sushil chauhan
"क्या निकलेगा हासिल"
Dr. Kishan tandon kranti
सब अपने नसीबों का
सब अपने नसीबों का
Dr fauzia Naseem shad
"" *हे अनंत रूप श्रीकृष्ण* ""
सुनीलानंद महंत
*......हसीन लम्हे....* .....
*......हसीन लम्हे....* .....
Naushaba Suriya
जीवन में अँधियारा छाया, दूर तलक सुनसान।
जीवन में अँधियारा छाया, दूर तलक सुनसान।
डॉ.सीमा अग्रवाल
😊गज़ब के लोग😊
😊गज़ब के लोग😊
*प्रणय प्रभात*
भेद नहीं ये प्रकृति करती
भेद नहीं ये प्रकृति करती
Buddha Prakash
अंजान बनते हैं वो यूँ जानबूझकर
अंजान बनते हैं वो यूँ जानबूझकर
VINOD CHAUHAN
आज कल कुछ इस तरह से चल रहा है,
आज कल कुछ इस तरह से चल रहा है,
kumar Deepak "Mani"
मिल जाएँगे कई सिकंदर कलंदर इस ज़माने में मगर,
मिल जाएँगे कई सिकंदर कलंदर इस ज़माने में मगर,
शेखर सिंह
चुन लेना राह से काँटे
चुन लेना राह से काँटे
Kavita Chouhan
मै मानव  कहलाता,
मै मानव कहलाता,
कार्तिक नितिन शर्मा
* श्री ज्ञानदायिनी स्तुति *
* श्री ज्ञानदायिनी स्तुति *
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मुझसा फ़कीर कोई ना हुआ,
मुझसा फ़कीर कोई ना हुआ,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
क्रोध
क्रोध
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
🤔🤔🤔समाज 🤔🤔🤔
🤔🤔🤔समाज 🤔🤔🤔
Slok maurya "umang"
मरने के बाद करेंगे आराम
मरने के बाद करेंगे आराम
Keshav kishor Kumar
प्यार भी खार हो तो प्यार की जरूरत क्या है।
प्यार भी खार हो तो प्यार की जरूरत क्या है।
सत्य कुमार प्रेमी
खारिज़ करने के तर्क / मुसाफ़िर बैठा
खारिज़ करने के तर्क / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
उल्फत के हर वर्क पर,
उल्फत के हर वर्क पर,
sushil sarna
*
*"बसंत पंचमी"*
Shashi kala vyas
Loading...