Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Sep 2022 · 1 min read

ये संगम दिलों का इबादत हो जैसे

ये संगम दिलों का इबादत हो जैसे
ये संगम ना हो तो मोहब्बत हो कैसे
ये संगम दिलों का………………….
तेरे-मेरे दिल की ये कहानी नहीं है
कयामत तलक भी रवानी नहीं है
ये तीनों जहाँ में सलामत हो जैसे
ये संगम दिलों का……….……….
मैं तुमसे जुदा ना तूँ मुझसे जुदा है
मैं तेरी मोहब्बत हूँ तूँ मेरा खुदा है
तेरे ख्वाब देखूँ हकीकत हो जैसे
ये संगम दिलों का……………….
है तेरे संग जीना तेरे संग ही मरना
बिन तेरे है ‘विनोद’ कैसा संवरना
खुदा की हम पे इनायत हो जैसे
ये संगम दिलों का………………..
ये संगम ना हो तो………………..

2 Likes · 208 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from VINOD CHAUHAN
View all
You may also like:
जरूरी है
जरूरी है
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
उम्र तो गुजर जाती है..... मगर साहेब
उम्र तो गुजर जाती है..... मगर साहेब
shabina. Naaz
जीवन
जीवन
नवीन जोशी 'नवल'
मेरा तेरा जो प्यार है किसको खबर है आज तक।
मेरा तेरा जो प्यार है किसको खबर है आज तक।
सत्य कुमार प्रेमी
तेरे लिखे में आग लगे / MUSAFIR BAITHA
तेरे लिखे में आग लगे / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
निर्लज्ज चरित्र का स्वामी वो, सम्मान पर आँख उठा रहा।
निर्लज्ज चरित्र का स्वामी वो, सम्मान पर आँख उठा रहा।
Manisha Manjari
सिर्फ दरवाजे पे शुभ लाभ,
सिर्फ दरवाजे पे शुभ लाभ,
नेताम आर सी
11-कैसे - कैसे लोग
11-कैसे - कैसे लोग
Ajay Kumar Vimal
कुण्डलिया-मणिपुर
कुण्डलिया-मणिपुर
दुष्यन्त 'बाबा'
"ख़ासियत"
Dr. Kishan tandon kranti
जीवन में सबसे मूल्यवान अगर मेरे लिए कुछ है तो वह है मेरा आत्
जीवन में सबसे मूल्यवान अगर मेरे लिए कुछ है तो वह है मेरा आत्
Dr Tabassum Jahan
हर गलती से सीख कर, हमने किया सुधार
हर गलती से सीख कर, हमने किया सुधार
Ravi Prakash
जो व्यक्ति अपने मन को नियंत्रित कर लेता है उसको दूसरा कोई कि
जो व्यक्ति अपने मन को नियंत्रित कर लेता है उसको दूसरा कोई कि
Rj Anand Prajapati
शेखर सिंह
शेखर सिंह
शेखर सिंह
#दोहा
#दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
निगाहें
निगाहें
Shyam Sundar Subramanian
3089.*पूर्णिका*
3089.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*गीत*
*गीत*
Poonam gupta
संगिनी
संगिनी
Neelam Sharma
मुझे  बखूबी याद है,
मुझे बखूबी याद है,
Sandeep Mishra
पुलवामा अटैक
पुलवामा अटैक
लक्ष्मी सिंह
** चिट्ठी आज न लिखता कोई **
** चिट्ठी आज न लिखता कोई **
surenderpal vaidya
छंटेगा तम सूरज निकलेगा
छंटेगा तम सूरज निकलेगा
Dheerja Sharma
दो शब्द यदि हम लोगों को लिख नहीं सकते
दो शब्द यदि हम लोगों को लिख नहीं सकते
DrLakshman Jha Parimal
ईद मुबारक
ईद मुबारक
Satish Srijan
*आ गये हम दर तुम्हारे दिल चुराने के लिए*
*आ गये हम दर तुम्हारे दिल चुराने के लिए*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
मतदान
मतदान
Anil chobisa
लिये मनुज अवतार प्रकट हुये हरि जेलों में।
लिये मनुज अवतार प्रकट हुये हरि जेलों में।
कार्तिक नितिन शर्मा
अगर हो दिल में प्रीत तो,
अगर हो दिल में प्रीत तो,
Priya princess panwar
अपनी धरती कितनी सुन्दर
अपनी धरती कितनी सुन्दर
Buddha Prakash
Loading...