Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Oct 2022 · 1 min read

यादें पुरानी

ज़ेहनो में रहती हैं ताज़ा हमेशा ।
यादें पुरानी होती कहां हैं ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
13 Likes · 236 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
विजयादशमी
विजयादशमी
Mukesh Kumar Sonkar
अँधेरे में नहीं दिखता
अँधेरे में नहीं दिखता
Anil Mishra Prahari
■ यादगार लम्हे
■ यादगार लम्हे
*Author प्रणय प्रभात*
इसकी औक़ात
इसकी औक़ात
Dr fauzia Naseem shad
कल भी वही समस्या थी ,
कल भी वही समस्या थी ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
जाग गया है हिन्दुस्तान
जाग गया है हिन्दुस्तान
Bodhisatva kastooriya
रुई-रुई से धागा बना
रुई-रुई से धागा बना
TARAN VERMA
प्रथम गणेशोत्सव
प्रथम गणेशोत्सव
Raju Gajbhiye
*राम अर्थ है भवसागर से, तरने वाले नाम का (मुक्तक)*
*राम अर्थ है भवसागर से, तरने वाले नाम का (मुक्तक)*
Ravi Prakash
फनकार
फनकार
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
जीवन का मकसद क्या है?
जीवन का मकसद क्या है?
Buddha Prakash
मुस्कुराते हुए सब बता दो।
मुस्कुराते हुए सब बता दो।
surenderpal vaidya
जीवन चक्र
जीवन चक्र
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
जीवन एक संगीत है | इसे जीने की धुन जितनी मधुर होगी , जिन्दगी
जीवन एक संगीत है | इसे जीने की धुन जितनी मधुर होगी , जिन्दगी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
फितरत
फितरत
Sidhartha Mishra
यादों का झरोखा
यादों का झरोखा
Madhavi Srivastava
Hard work is most important in your dream way
Hard work is most important in your dream way
Neeleshkumar Gupt
वक्त
वक्त
लक्ष्मी सिंह
जीवन में कुछ भी स्थायी नहीं है। न सुख, न दुःख,न नौकरी, न रिश
जीवन में कुछ भी स्थायी नहीं है। न सुख, न दुःख,न नौकरी, न रिश
पूर्वार्थ
!! रे, मन !!
!! रे, मन !!
Chunnu Lal Gupta
****शिरोमणि****
****शिरोमणि****
प्रेमदास वसु सुरेखा
🧟☠️अमावस की रात ☠️🧟
🧟☠️अमावस की रात ☠️🧟
SPK Sachin Lodhi
आखिर शिथिलता के दौर
आखिर शिथिलता के दौर
DrLakshman Jha Parimal
*
*"हरियाली तीज"*
Shashi kala vyas
2986.*पूर्णिका*
2986.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
अर्जक
अर्जक
Mahender Singh
चींटी रानी
चींटी रानी
Dr Archana Gupta
ना जाने क्यों...?
ना जाने क्यों...?
भवेश
अंतराष्टीय मजदूर दिवस
अंतराष्टीय मजदूर दिवस
Ram Krishan Rastogi
ज़िन्दगी वो युद्ध है,
ज़िन्दगी वो युद्ध है,
Saransh Singh 'Priyam'
Loading...