Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Aug 2023 · 1 min read

यह सिक्वेल बनाने का ,

यह सिक्वेल बनाने का ,
बॉलीवुड को क्या लगा है रोग,
अच्छी भली फिल्म का ,
सत्यानाश कर देते है ये लोग।
कहो कोई जाकर उनसे ,
यह पिष्ट पेषण की आदत अच्छी नहीं ।
अति उत्तम फिल्मों की खूबसूरती ,
को नष्ट करना ,यह बात जचती नहीं ।

450 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from ओनिका सेतिया 'अनु '
View all
You may also like:
आकाश दीप - (6 of 25 )
आकाश दीप - (6 of 25 )
Kshma Urmila
"फ़िर से आज तुम्हारी याद आई"
Lohit Tamta
हर पिता को अपनी बेटी को,
हर पिता को अपनी बेटी को,
Shutisha Rajput
ओ जानें ज़ाना !
ओ जानें ज़ाना !
The_dk_poetry
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
आक्रोष
आक्रोष
Aman Sinha
जिंदगी, जिंदगी है इसे सवाल ना बना
जिंदगी, जिंदगी है इसे सवाल ना बना
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
तुम्हें आसमान मुबारक
तुम्हें आसमान मुबारक
Shekhar Chandra Mitra
2649.पूर्णिका
2649.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
रक्षा बन्धन पर्व ये,
रक्षा बन्धन पर्व ये,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"वक्त-वक्त की बात"
Dr. Kishan tandon kranti
■ संडे इज़ द फंडे...😊
■ संडे इज़ द फंडे...😊
*प्रणय प्रभात*
दिल लगाया है जहाॅं दिमाग न लगाया कर
दिल लगाया है जहाॅं दिमाग न लगाया कर
Manoj Mahato
परम्परा को मत छोडो
परम्परा को मत छोडो
Dinesh Kumar Gangwar
ফুলডুংরি পাহাড় ভ্রমণ
ফুলডুংরি পাহাড় ভ্রমণ
Arghyadeep Chakraborty
ग्रीष्म ऋतु --
ग्रीष्म ऋतु --
Seema Garg
सरस्वती वंदना-2
सरस्वती वंदना-2
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
भांथी के विलुप्ति के कगार पर होने के बहाने / मुसाफ़िर बैठा
भांथी के विलुप्ति के कगार पर होने के बहाने / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
जब हम सोचते हैं कि हमने कुछ सार्थक किया है तो हमें खुद पर गर
जब हम सोचते हैं कि हमने कुछ सार्थक किया है तो हमें खुद पर गर
ललकार भारद्वाज
*आओ बच्चों सीख सिखाऊँ*
*आओ बच्चों सीख सिखाऊँ*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
उसी संघर्ष को रोजाना, हम सब दोहराते हैं (हिंदी गजल))
उसी संघर्ष को रोजाना, हम सब दोहराते हैं (हिंदी गजल))
Ravi Prakash
दोहा-सुराज
दोहा-सुराज
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
"बचपन"
Tanveer Chouhan
नेता की रैली
नेता की रैली
Punam Pande
ताशीर
ताशीर
Sanjay ' शून्य'
समाप्त हो गई परीक्षा
समाप्त हो गई परीक्षा
Vansh Agarwal
रविदासाय विद् महे, काशी बासाय धी महि।
रविदासाय विद् महे, काशी बासाय धी महि।
गुमनाम 'बाबा'
प्रभु -कृपा
प्रभु -कृपा
Dr. Upasana Pandey
ज़िन्दगी एक बार मिलती हैं, लिख दें अपने मन के अल्फाज़
ज़िन्दगी एक बार मिलती हैं, लिख दें अपने मन के अल्फाज़
Lokesh Sharma
कुंडलिया छंद
कुंडलिया छंद
sushil sarna
Loading...