Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 May 2023 · 1 min read

मौत के लिए किसी खंज़र की जरूरत नहीं,

मौत के लिए किसी खंज़र की जरूरत नहीं,
बस इश्क़ कर लो…।
-लक्ष्मी सिंह
नई दिल्ली

227 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from लक्ष्मी सिंह
View all
You may also like:
💃युवती💃
💃युवती💃
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
नवीन वर्ष (पञ्चचामर छन्द)
नवीन वर्ष (पञ्चचामर छन्द)
नाथ सोनांचली
जीवन बरगद कीजिए
जीवन बरगद कीजिए
Mahendra Narayan
......,,,,
......,,,,
शेखर सिंह
2541.पूर्णिका
2541.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
जनाब बस इसी बात का तो गम है कि वक्त बहुत कम है
जनाब बस इसी बात का तो गम है कि वक्त बहुत कम है
Paras Mishra
दोहे-
दोहे-
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
ख़ामोश निगाहें
ख़ामोश निगाहें
Surinder blackpen
स्कूल चलो
स्कूल चलो
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ये एहतराम था मेरा कि उसकी महफ़िल में
ये एहतराम था मेरा कि उसकी महफ़िल में
Shweta Soni
ईश्वर
ईश्वर
Neeraj Agarwal
याद आया मुझको बचपन मेरा....
याद आया मुझको बचपन मेरा....
Harminder Kaur
" आज़ का आदमी "
Chunnu Lal Gupta
*ज्ञान मंदिर पुस्तकालय*
*ज्ञान मंदिर पुस्तकालय*
Ravi Prakash
सुनो प्रियमणि!....
सुनो प्रियमणि!....
Santosh Soni
जब प्यार है
जब प्यार है
surenderpal vaidya
चाय पार्टी
चाय पार्टी
Sidhartha Mishra
श्री कृष्ण भजन
श्री कृष्ण भजन
Khaimsingh Saini
दिल आइना
दिल आइना
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
हमको ख़ामोश कर दिया
हमको ख़ामोश कर दिया
Dr fauzia Naseem shad
योग का गणित और वर्तमान समस्याओं का निदान
योग का गणित और वर्तमान समस्याओं का निदान
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
Tum makhmal me palte ho ,
Tum makhmal me palte ho ,
Sakshi Tripathi
अथर्व आज जन्मदिन मनाएंगे
अथर्व आज जन्मदिन मनाएंगे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*अहं ब्रह्म अस्मि*
*अहं ब्रह्म अस्मि*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
A heart-broken Soul.
A heart-broken Soul.
Manisha Manjari
*याद है  हमको हमारा  जमाना*
*याद है हमको हमारा जमाना*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
हे देश मेरे
हे देश मेरे
Satish Srijan
"यादें अलवर की"
Dr Meenu Poonia
আজকের মানুষ
আজকের মানুষ
Ahtesham Ahmad
Nothing you love is lost. Not really. Things, people—they al
Nothing you love is lost. Not really. Things, people—they al
पूर्वार्थ
Loading...