Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Oct 2022 · 1 min read

मौत किसी समस्या का

“मौत किसी समस्या का समाधान नहीं, परिस्थितियां कितनी भी बुरी क्यों न हों, ज़िंदगी को जीने के एक नहीं हज़ार मौके दें, कोई भी रिश्ता ज़िंदगी से बड़ कर नहीं होता और ज़बरदस्ती के रिश्ते में ख़ुशी ढूंढना बेवकूफ़ी के अलावा कुछ नहीं, ज़िंदगी अमानत है उस रब की उसे कभी किसी के लिए ज़ाया न करें।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
17 Likes · 471 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
सफलता
सफलता
Babli Jha
*नज़्म*
*नज़्म*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
रहस्य-दर्शन
रहस्य-दर्शन
Mahender Singh
मन चाहे कुछ कहना....!
मन चाहे कुछ कहना....!
Kanchan Khanna
*श्रद्धा विश्वास रूपेण**
*श्रद्धा विश्वास रूपेण**"श्रद्धा विश्वास रुपिणौ'"*
Shashi kala vyas
मत छेड़ हमें देशभक्ति में हम डूबे है।
मत छेड़ हमें देशभक्ति में हम डूबे है।
Rj Anand Prajapati
** जिंदगी  मे नहीं शिकायत है **
** जिंदगी मे नहीं शिकायत है **
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
मुक्तक
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
!! फिर तात तेरा कहलाऊँगा !!
!! फिर तात तेरा कहलाऊँगा !!
Akash Yadav
"दुमका संस्मरण 3" परिवहन सेवा (1965)
DrLakshman Jha Parimal
हमको तंहाई का
हमको तंहाई का
Dr fauzia Naseem shad
प्रकृति
प्रकृति
नवीन जोशी 'नवल'
🙅इस साल🙅
🙅इस साल🙅
*Author प्रणय प्रभात*
दिल को एक बहाना होगा - Desert Fellow Rakesh Yadav
दिल को एक बहाना होगा - Desert Fellow Rakesh Yadav
Desert fellow Rakesh
जिस्म से जान निकालूँ कैसे ?
जिस्म से जान निकालूँ कैसे ?
Manju sagar
जब पीड़ा से मन फटता है
जब पीड़ा से मन फटता है
पूर्वार्थ
2452.पूर्णिका
2452.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"बहुत दिनों से"
Dr. Kishan tandon kranti
*हमें बेटी बचाना है, हमें बेटी पढ़ाना है (मुक्तक)*
*हमें बेटी बचाना है, हमें बेटी पढ़ाना है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
रमेशराज की माँ विषयक मुक्तछंद कविताएँ
रमेशराज की माँ विषयक मुक्तछंद कविताएँ
कवि रमेशराज
अब देर मत करो
अब देर मत करो
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
मेरी मजबूरी को बेवफाई का नाम न दे,
मेरी मजबूरी को बेवफाई का नाम न दे,
Priya princess panwar
5 हाइकु
5 हाइकु
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Speciality comes from the new arrival .
Speciality comes from the new arrival .
Sakshi Tripathi
"राज़" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
ऐतबार कर बैठा
ऐतबार कर बैठा
Naseeb Jinagal Koslia नसीब जीनागल कोसलिया
त्रिशरण गीत
त्रिशरण गीत
Buddha Prakash
मेरी ज़िन्दगी का सबसे बड़ा इनाम हो तुम l
मेरी ज़िन्दगी का सबसे बड़ा इनाम हो तुम l
Ranjeet kumar patre
क्या मुझसे दोस्ती करोगे?
क्या मुझसे दोस्ती करोगे?
Naushaba Suriya
बीती यादें भी बहारों जैसी लगी,
बीती यादें भी बहारों जैसी लगी,
manjula chauhan
Loading...