Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Feb 2024 · 1 min read

मोहब्बत।

बिना काटे जो घाव दे,
ऐसी तासीर है।
मोहब्बत भी मेरे यारो,
एक शमसीर है।।

सेहरा भी गुलशन लगे,
चाहत वो चीज़ है।
तुम खुश रहो गम लेने को,
ये ताज नाचीज़ है।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

Language: Hindi
Tag: शेर
1 Like · 46 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
गुज़रते वक्त ने
गुज़रते वक्त ने
Dr fauzia Naseem shad
आदिपुरुष फ़िल्म
आदिपुरुष फ़िल्म
Dr Archana Gupta
उम्मीदें  लगाना  छोड़  दो...
उम्मीदें लगाना छोड़ दो...
Aarti sirsat
मेरे जाने के बाद ,....
मेरे जाने के बाद ,....
ओनिका सेतिया 'अनु '
बड़े मिनरल वाटर पी निहाल : उमेश शुक्ल के हाइकु
बड़े मिनरल वाटर पी निहाल : उमेश शुक्ल के हाइकु
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
“बदलते भारत की तस्वीर”
“बदलते भारत की तस्वीर”
पंकज कुमार कर्ण
नसीब
नसीब
DR ARUN KUMAR SHASTRI
फूल खिलते जा रहे
फूल खिलते जा रहे
surenderpal vaidya
Ye chad adhura lagta hai,
Ye chad adhura lagta hai,
Sakshi Tripathi
आ जाओ घर साजना
आ जाओ घर साजना
लक्ष्मी सिंह
पुकारती है खनकती हुई चूड़ियाँ तुमको।
पुकारती है खनकती हुई चूड़ियाँ तुमको।
Neelam Sharma
कबीरा यह मूर्दों का गांव
कबीरा यह मूर्दों का गांव
Shekhar Chandra Mitra
वास्तविकता से परिचित करा दी गई है
वास्तविकता से परिचित करा दी गई है
Keshav kishor Kumar
सूखे पत्तों से भी प्यार लूंगा मैं
सूखे पत्तों से भी प्यार लूंगा मैं
कवि दीपक बवेजा
@ranjeetkrshukla
@ranjeetkrshukla
Ranjeet Kumar Shukla
दल बदलू ( बाल कविता)
दल बदलू ( बाल कविता)
Ravi Prakash
ये जो मुहब्बत लुका छिपी की नहीं निभेगी तुम्हारी मुझसे।
ये जो मुहब्बत लुका छिपी की नहीं निभेगी तुम्हारी मुझसे।
सत्य कुमार प्रेमी
2837. *पूर्णिका*
2837. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जो बिकता है!
जो बिकता है!
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
शुक्रिया कोरोना
शुक्रिया कोरोना
Dr. Pradeep Kumar Sharma
👍👍
👍👍
*Author प्रणय प्रभात*
दो पाटन की चक्की
दो पाटन की चक्की
Harminder Kaur
इरादा हो अगर पक्का सितारे तोड़ लाएँ हम
इरादा हो अगर पक्का सितारे तोड़ लाएँ हम
आर.एस. 'प्रीतम'
काल चक्र कैसा आया यह, लोग दिखावा करते हैं
काल चक्र कैसा आया यह, लोग दिखावा करते हैं
पूर्वार्थ
🚩 वैराग्य
🚩 वैराग्य
Pt. Brajesh Kumar Nayak
देता है अच्छा सबक़,
देता है अच्छा सबक़,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कोई हमको ढूँढ़ न पाए
कोई हमको ढूँढ़ न पाए
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
ये वादियां
ये वादियां
Surinder blackpen
जब वक़्त के साथ चलना सीखो,
जब वक़्त के साथ चलना सीखो,
Nanki Patre
🌙Chaand Aur Main✨
🌙Chaand Aur Main✨
Srishty Bansal
Loading...