Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Nov 2023 · 1 min read

मोर छत्तीसगढ़ महतारी

मोर छत्तीसगढ़ महतारी
मोर छत्तीसगढ़ महतारी हावय सबले महान,
एकर कोरा मा खेलय का लईका का सियान।
हमर राज्य के सुख सम्पदा हा सबके मन ला भावय,
एक बार जेन आगे ईहां नई फेर कभू छोड़के जावय।
हमर छत्तीसगढ़िया भुईयां हा कहाथे धान के कटोरा,
दुसर के मदद करे बर नई करन काकरो अगोरा।
हमर छत्तीसगढ़िया संस्कृति के नई पावय कोनो पार,
खनिज सम्पदा घलो मिलथे इहां के माटी मा अपार।
मैनपाट हा मुकुट हरे कवर्धा रायगढ़ भुजा,
देश मा एकर असन नई हे राज्य कोनो दूजा।
बीएसपी अऊ बालको फैक्टरी जिहा हावय,
कतको घर परिवार के पेट रोजी एहा चलावय।
तीन नंदियां के संगम हावय राजिम प्रयाग धाम मा,
चित्रकूट अऊ तीरथगढ़ झरना नई हे पीछू नाम मा।
बस्तर के इंद्रावती नंदिया हा पखारय एकर चरन,
हमन कतका भाग वाला जऊन ईहां जन्मे हवन।
रतनपुर महामाई दाई डोंगरगढ़ बमलाई,
बस्तर दंतेवाड़ा मा हावय दंतेसरी दाई।
एकर मनके आशीष ले अतका बड़े बढ़े हावन,
छत्तीसगढ़ महतारी के कोरा मा हमन खेलत हवन।
धन्य हे हमर छत्तीसगढ़ महतारी अऊ ईहां के रहईया,
चारो मुड़ा के मनखे मा सबले बढ़िया कहाथे छत्तीसगढ़िया।।
✍️ मुकेश कुमार सोनकर, रायपुर छत्तीसगढ़

1 Like · 319 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
फर्क नही पड़ता है
फर्क नही पड़ता है
ruby kumari
प्रतीक्षा
प्रतीक्षा
Kanchan Khanna
ज़ख़्म गहरा है सब्र से काम लेना है,
ज़ख़्म गहरा है सब्र से काम लेना है,
Phool gufran
♥️राधे कृष्णा ♥️
♥️राधे कृष्णा ♥️
Vandna thakur
करने दो इजहार मुझे भी
करने दो इजहार मुझे भी
gurudeenverma198
*Awakening of dreams*
*Awakening of dreams*
Poonam Matia
बिल्ली
बिल्ली
SHAMA PARVEEN
न जाने क्या ज़माना चाहता है
न जाने क्या ज़माना चाहता है
Dr. Alpana Suhasini
*
*"हिंदी"*
Shashi kala vyas
मेरे अंशुल तुझ बिन.....
मेरे अंशुल तुझ बिन.....
Santosh Soni
* चली रे चली *
* चली रे चली *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*कोई मंत्री बन गया, छिना किसी से ताज (कुंडलिया)*
*कोई मंत्री बन गया, छिना किसी से ताज (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
ज़िंदगी जी तो लगा बहुत अच्छा है,
ज़िंदगी जी तो लगा बहुत अच्छा है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
■ उसकी रज़ा, अपना मज़ा।।
■ उसकी रज़ा, अपना मज़ा।।
*प्रणय प्रभात*
बात उनकी क्या कहूँ...
बात उनकी क्या कहूँ...
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
2686.*पूर्णिका*
2686.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आधार छन्द-
आधार छन्द- "सीता" (मापनीयुक्त वर्णिक) वर्णिक मापनी- गालगागा गालगागा गालगागा गालगा (15 वर्ण) पिंगल सूत्र- र त म य र
Neelam Sharma
वो मुझे पास लाना नही चाहता
वो मुझे पास लाना नही चाहता
कृष्णकांत गुर्जर
“परिंदे की अभिलाषा”
“परिंदे की अभिलाषा”
DrLakshman Jha Parimal
खेल खिलौने वो बचपन के
खेल खिलौने वो बचपन के
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
संत गुरु नानक देवजी का हिंदी साहित्य में योगदान
संत गुरु नानक देवजी का हिंदी साहित्य में योगदान
Indu Singh
!! मन रखिये !!
!! मन रखिये !!
Chunnu Lal Gupta
किसी मे
किसी मे
Dr fauzia Naseem shad
निर्मल निर्मला
निर्मल निर्मला
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
ताप जगत के झेलकर, मुरझा हृदय-प्रसून।
ताप जगत के झेलकर, मुरझा हृदय-प्रसून।
डॉ.सीमा अग्रवाल
वक्त-ए-रूखसती पे उसने पीछे मुड़ के देखा था
वक्त-ए-रूखसती पे उसने पीछे मुड़ के देखा था
Shweta Soni
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
भीड़ में हाथ छोड़ दिया....
भीड़ में हाथ छोड़ दिया....
Kavita Chouhan
रिश्तों का एक उचित मूल्य💙👭👏👪
रिश्तों का एक उचित मूल्य💙👭👏👪
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
ग़ज़ल
ग़ज़ल
abhishek rajak
Loading...