Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Aug 2023 · 1 min read

मोबाइल फोन

मोबाइल फोन

कभी घंटो लगाते थे जहां , कापी किताबों में ।
गणित में हम उलझ करके, गिने जाते नवाबों में।
हमें गूगल पढ़ाकर आज दुनिया भर घुमाता है ।
मगर माता-पिता हैं व्यस्त, बचपन के हिसाबों में।

यहां माता-पिता बच्चों को अपना फोन देते हैं ।
यहां मुस्कान सेल्फी के लिए ही फोन बनते हैं ।
कहीं गेमिंग, कहीं लर्निंग , बचे अब खेल बच्चों के ।
हंसाने खिलखिलाने के लिए भी फोन होते हैं ।

डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव प्रेम

Language: Hindi
4 Likes · 1 Comment · 170 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
View all
You may also like:
आ जाते हैं जब कभी, उमड़ घुमड़ घन श्याम।
आ जाते हैं जब कभी, उमड़ घुमड़ घन श्याम।
surenderpal vaidya
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
देश के दुश्मन सिर्फ बॉर्डर पर ही नहीं साहब,
देश के दुश्मन सिर्फ बॉर्डर पर ही नहीं साहब,
राजेश बन्छोर
*** अरमान....!!! ***
*** अरमान....!!! ***
VEDANTA PATEL
"पर्सनल पूर्वाग्रह" के लँगोट
*Author प्रणय प्रभात*
सामने मेहबूब हो और हम अपनी हद में रहे,
सामने मेहबूब हो और हम अपनी हद में रहे,
Vishal babu (vishu)
देवतुल्य है भाई मेरा
देवतुल्य है भाई मेरा
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
💐 Prodigy Love-19💐
💐 Prodigy Love-19💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
We Would Be Connected Actually
We Would Be Connected Actually
Manisha Manjari
निजी कॉलेज/ विश्वविद्यालय
निजी कॉलेज/ विश्वविद्यालय
Sanjay ' शून्य'
कुदरत मुझको रंग दे
कुदरत मुझको रंग दे
Gurdeep Saggu
कोई मंझधार में पड़ा है
कोई मंझधार में पड़ा है
VINOD CHAUHAN
वो लड़की
वो लड़की
Kunal Kanth
स्वस्थ तन
स्वस्थ तन
Sandeep Pande
चाय के दो प्याले ,
चाय के दो प्याले ,
Shweta Soni
3051.*पूर्णिका*
3051.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
*राजा रानी हुए कहानी (बाल कविता)*
*राजा रानी हुए कहानी (बाल कविता)*
Ravi Prakash
अरे मुंतशिर ! तेरा वजूद तो है ,
अरे मुंतशिर ! तेरा वजूद तो है ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
श्री विध्नेश्वर
श्री विध्नेश्वर
Shashi kala vyas
कन्यादान
कन्यादान
Mukesh Kumar Sonkar
मै पैसा हूं मेरे रूप है अनेक
मै पैसा हूं मेरे रूप है अनेक
Ram Krishan Rastogi
वर्तमान समय मे धार्मिक पाखण्ड ने भारतीय समाज को पूरी तरह दोह
वर्तमान समय मे धार्मिक पाखण्ड ने भारतीय समाज को पूरी तरह दोह
शेखर सिंह
विश्वास
विश्वास
धर्मेंद्र अरोड़ा मुसाफ़िर
बरसात
बरसात
Bodhisatva kastooriya
'महंगाई की मार'
'महंगाई की मार'
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
डॉ अरुण कुमार शास्त्री 👌💐👌
डॉ अरुण कुमार शास्त्री 👌💐👌
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"अहसासों का समीकरण"
Dr. Kishan tandon kranti
सुन लो बच्चों
सुन लो बच्चों
लक्ष्मी सिंह
पहले की भारतीय सेना
पहले की भारतीय सेना
Satish Srijan
Loading...