Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Apr 2024 · 1 min read

मैने वक्त को कहा

मैने वक्त को कहा
रुक जा उन लम्हों में
जो कभी मेरे थे
वापिस ले चल
जहां फिर जीना चाहता हूं
एक और जिंदगी…
कुछ भूल सुधारनी है
बिगड़ी बातें संवारनी है
वक्त ने कहा..
एक चक्र है वक़्त
मैं कभी रुक नहीं पाता
पर जो चाहो तुम
तो, बस यादें दे सकता हूं
वक्त भी बदल गया
लोग भी बदल गए
बस जो नहीं बदल पाईं
तो वो है यादें….!!

हिमांशु Kulshrestha

56 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
🥀 *अज्ञानी की✍*🥀
🥀 *अज्ञानी की✍*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
रंजीत कुमार शुक्ल
रंजीत कुमार शुक्ल
Ranjeet kumar Shukla
" मजदूर "
Dr. Kishan tandon kranti
3055.*पूर्णिका*
3055.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
खुद को सही और
खुद को सही और
shabina. Naaz
बारिश की बूंदों ने।
बारिश की बूंदों ने।
Taj Mohammad
शौक या मजबूरी
शौक या मजबूरी
संजय कुमार संजू
बुढ़ाते बालों के पक्ष में / MUSAFIR BAITHA
बुढ़ाते बालों के पक्ष में / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
जवान वो थी तो नादान हम भी नहीं थे,
जवान वो थी तो नादान हम भी नहीं थे,
जय लगन कुमार हैप्पी
मत गमों से डर तू इनका साथ कर।
मत गमों से डर तू इनका साथ कर।
सत्य कुमार प्रेमी
ज़िंदगी का खेल है, सोचना समझना
ज़िंदगी का खेल है, सोचना समझना
पूर्वार्थ
অরাজক সহিংসতা
অরাজক সহিংসতা
Otteri Selvakumar
हीरा जनम गंवाएगा
हीरा जनम गंवाएगा
Shekhar Chandra Mitra
जल संरक्षण
जल संरक्षण
Preeti Karn
दूरी जरूरी
दूरी जरूरी
Sanjay ' शून्य'
तुलना करके, दु:ख क्यों पाले
तुलना करके, दु:ख क्यों पाले
Dhirendra Singh
जमाना तो डरता है, डराता है।
जमाना तो डरता है, डराता है।
Priya princess panwar
यार ब - नाम - अय्यार
यार ब - नाम - अय्यार
Ramswaroop Dinkar
कुछ याद बन
कुछ याद बन
Dr fauzia Naseem shad
करम
करम
Fuzail Sardhanvi
■ एक शाश्वत सच
■ एक शाश्वत सच
*प्रणय प्रभात*
Gestures Of Love
Gestures Of Love
Vedha Singh
कुछ किताबें और
कुछ किताबें और
Shweta Soni
दोहा
दोहा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
सच्चा मन का मीत वो,
सच्चा मन का मीत वो,
sushil sarna
लौट  आते  नहीं  अगर  बुलाने   के   बाद
लौट आते नहीं अगर बुलाने के बाद
Anil Mishra Prahari
*अंतिम प्रणाम ..अलविदा #डॉ_अशोक_कुमार_गुप्ता* (संस्मरण)
*अंतिम प्रणाम ..अलविदा #डॉ_अशोक_कुमार_गुप्ता* (संस्मरण)
Ravi Prakash
भोर सुहानी हो गई, खिले जा रहे फूल।
भोर सुहानी हो गई, खिले जा रहे फूल।
surenderpal vaidya
आपकी आत्मचेतना और आत्मविश्वास ही आपको सबसे अधिक प्रेरित करने
आपकी आत्मचेतना और आत्मविश्वास ही आपको सबसे अधिक प्रेरित करने
Neelam Sharma
चलते-चलते...
चलते-चलते...
डॉ.सीमा अग्रवाल
Loading...