Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Feb 2023 · 1 min read

मैं तेरे अहसानों से ऊबर भी जाऊ

मैं तेरे अहसानों से ऊबर भी जाऊ
तो, मेरा वजूद क्या है।
मैं देखता हूँ खुद को आसमान मे
मगर, मेरा जमीर जमीन पर क्यो है।
वो चमकता चाँद आसमान में
मगर, उसका जिक्र जमीन पर क्यों है।
हे कुछ रिश्ते ऐसे भी
ना, होते हुये भी
उनका अहसास
हमें, होता क्यो है।
** ** ** ** **
🍀 स्वामी गंगानिया 🍀

472 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दोस्ती...
दोस्ती...
Srishty Bansal
"राबता" ग़ज़ल
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
*मूलांक*
*मूलांक*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मन है एक बादल सा मित्र हैं हवाऐं
मन है एक बादल सा मित्र हैं हवाऐं
Bhargav Jha
23/92.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/92.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जब कोई शब् मेहरबाँ होती है ।
जब कोई शब् मेहरबाँ होती है ।
sushil sarna
Confession
Confession
Vedha Singh
तू छीनती है गरीब का निवाला, मैं जल जंगल जमीन का सच्चा रखवाला,
तू छीनती है गरीब का निवाला, मैं जल जंगल जमीन का सच्चा रखवाला,
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
शुभ दीपावली
शुभ दीपावली
Harsh Malviya
■ सांकेतिक कविता
■ सांकेतिक कविता
*प्रणय प्रभात*
वक्त अब कलुआ के घर का ठौर है
वक्त अब कलुआ के घर का ठौर है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
फूल कभी भी बेजुबाॅ॑ नहीं होते
फूल कभी भी बेजुबाॅ॑ नहीं होते
VINOD CHAUHAN
महिलाएं जितना तेजी से रो सकती है उतना ही तेजी से अपने भावनाओ
महिलाएं जितना तेजी से रो सकती है उतना ही तेजी से अपने भावनाओ
Rj Anand Prajapati
*महान आध्यात्मिक विभूति मौलाना यूसुफ इस्लाही से दो मुलाकातें*
*महान आध्यात्मिक विभूति मौलाना यूसुफ इस्लाही से दो मुलाकातें*
Ravi Prakash
तनिक लगे न दिमाग़ पर,
तनिक लगे न दिमाग़ पर,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आने जाने का
आने जाने का
Dr fauzia Naseem shad
बरखा रानी तू कयामत है ...
बरखा रानी तू कयामत है ...
ओनिका सेतिया 'अनु '
ऋतु शरद
ऋतु शरद
Sandeep Pande
अकेलापन
अकेलापन
Neeraj Agarwal
प्रश्रयस्थल
प्रश्रयस्थल
Bodhisatva kastooriya
अयोध्या धाम
अयोध्या धाम
Mukesh Kumar Sonkar
इससे पहले कि ये जुलाई जाए
इससे पहले कि ये जुलाई जाए
Anil Mishra Prahari
अगर प्यार तुम हमसे करोगे
अगर प्यार तुम हमसे करोगे
gurudeenverma198
सूरज का ताप
सूरज का ताप
Namita Gupta
स्वयं अपने चित्रकार बनो
स्वयं अपने चित्रकार बनो
Ritu Asooja
(25) यह जीवन की साँझ, और यह लम्बा रस्ता !
(25) यह जीवन की साँझ, और यह लम्बा रस्ता !
Kishore Nigam
जय मां शारदे
जय मां शारदे
Anil chobisa
माँ भारती की पुकार
माँ भारती की पुकार
लक्ष्मी सिंह
घड़ियाली आँसू
घड़ियाली आँसू
Dr. Pradeep Kumar Sharma
'उड़ाओ नींद के बादल खिलाओ प्यार के गुलशन
'उड़ाओ नींद के बादल खिलाओ प्यार के गुलशन
आर.एस. 'प्रीतम'
Loading...