Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Sep 2023 · 1 min read

मैं चोरी नहीं करता किसी की,

मैं चोरी नहीं करता किसी की,
ना आदत है हमें चोरी की ।
जो लिखता हूँ, दिल से लिखता हूँ,
उसे डायरी के पन्नों में सजा लेता हूँ ।
पता नहीं ये जिंदगी हमारी, कल रहे ना रहे ।
ये हमारे गुजरे हुए वक्त की निशानी तो रहेगी ।।
मुझे कहीं प्यार मिले ना मिले,
हमें अब इसका अफसोस नहीं होता ।
क्योंकि कुछ लोग हमें ऐसे भी मिले हैं,
जो बाद में कहते हैं,
मुझे आपके खोने का अफसोस है ।।

143 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हद
हद
Ajay Mishra
अच्छे   बल्लेबाज  हैं,  गेंदबाज   दमदार।
अच्छे बल्लेबाज हैं, गेंदबाज दमदार।
दुष्यन्त 'बाबा'
💐प्रेम कौतुक-167💐
💐प्रेम कौतुक-167💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
भालू,बंदर,घोड़ा,तोता,रोने वाली गुड़िया
भालू,बंदर,घोड़ा,तोता,रोने वाली गुड़िया
Shweta Soni
सोचा ना था ऐसे भी जमाने होंगे
सोचा ना था ऐसे भी जमाने होंगे
Jitendra Chhonkar
प्रकृति
प्रकृति
Sûrëkhâ Rãthí
Writing Challenge- अंतरिक्ष (Space)
Writing Challenge- अंतरिक्ष (Space)
Sahityapedia
■ विचार
■ विचार
*Author प्रणय प्रभात*
बटोही  (कुंडलिया)
बटोही (कुंडलिया)
Ravi Prakash
If We Are Out Of Any Connecting Language.
If We Are Out Of Any Connecting Language.
Manisha Manjari
8) “चन्द्रयान भारत की शान”
8) “चन्द्रयान भारत की शान”
Sapna Arora
सविधान दिवस
सविधान दिवस
Ranjeet kumar patre
आदत न डाल
आदत न डाल
Dr fauzia Naseem shad
२०२३ में विपक्षी दल, मोदी से घवराए
२०२३ में विपक्षी दल, मोदी से घवराए
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
निःशक्त, गरीब और यतीम को
निःशक्त, गरीब और यतीम को
gurudeenverma198
जवानी के दिन
जवानी के दिन
Sandeep Pande
हम लड़के हैं जनाब...
हम लड़के हैं जनाब...
पूर्वार्थ
चौकड़िया छंद के प्रमुख नियम
चौकड़िया छंद के प्रमुख नियम
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
"कुछ अनकही"
Ekta chitrangini
जब चांद चमक रहा था मेरे घर के सामने
जब चांद चमक रहा था मेरे घर के सामने
shabina. Naaz
प्रदूषण-जमघट।
प्रदूषण-जमघट।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
"सचमुच"
Dr. Kishan tandon kranti
विघ्न-विनाशक नाथ सुनो, भय से भयभीत हुआ जग सारा।
विघ्न-विनाशक नाथ सुनो, भय से भयभीत हुआ जग सारा।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
ख़यालों में रहते हैं जो साथ मेरे - संदीप ठाकुर
ख़यालों में रहते हैं जो साथ मेरे - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
माना अपनी पहुंच नहीं है
माना अपनी पहुंच नहीं है
महेश चन्द्र त्रिपाठी
तक्षशिला विश्वविद्यालय के एल्युमिनाई
तक्षशिला विश्वविद्यालय के एल्युमिनाई
Shivkumar Bilagrami
Struggle to conserve natural resources
Struggle to conserve natural resources
Desert fellow Rakesh
*मै भारत देश आजाद हां*
*मै भारत देश आजाद हां*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
परिश्रम
परिश्रम
Neeraj Agarwal
महक कहां बचती है
महक कहां बचती है
Surinder blackpen
Loading...