Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Feb 2023 · 1 min read

मैं उड़ सकती

मैं उड़ सकती मेरे भैया, नहीं गगन में जाती।
जहाँ डटे हो तुम मोर्चे पर, पास तुम्हारे आती।

करगिल हो या सियाचीन भी, पहुँच वहाँ मैं जाती।
तेरे कर कमलों को भैया, राखी बाँध सजाती।
साथ तुम्हारे वहीं बैठकर, मोहन भोग खिलाती।
……… ।
दिखला देती पौरुष अपना, कितना दम है मुझ में।
आँख उठाने की फिर हिम्मत, रहती कभी तुझमें।
बहना से मैं गुरु बन जाती, मंत्र यही दे आती।
…. ‌….।
इतना सुनकर भैया मेरा, शिखर हिमालय बनता।
कभी शर्म से भारत माँ का, शीश न नीचे झुकता।
जन गण के फिर साथ बैठकर, गीत खुशी के गाती।
……….।
अब बहना कहती है कि- जब मेरा भैया
शत्रु‌ के मन में इतना खौफ भर देगा कि शत्रु
को मेरी तरफ नजर उठाकर देखने‌की हिम्मत
नहीं रहेगी, जिस दिन मेरे सारे दुश्मन मुझै
और भारत माँ को सलाम करेंगे तब मैं गगन
में उड़ूँगी।

अभिलाषा देखिए –

नीलांबर में उड़ जाऊँगी, बनकर उसका स्वामी।
पाक चीन या हो कोई भी, देगा मुझे सलामी।
मानो, पूर्वज गए सौंप कर, मुझको संस्कृति थाती।

2 Likes · 216 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
ईश्वर
ईश्वर
Neeraj Agarwal
गरीबी
गरीबी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
I got forever addicted.
I got forever addicted.
Manisha Manjari
ईर्ष्या
ईर्ष्या
नूरफातिमा खातून नूरी
“इसे शिष्टाचार कहते हैं”
“इसे शिष्टाचार कहते हैं”
DrLakshman Jha Parimal
पानी  के छींटें में भी  दम बहुत है
पानी के छींटें में भी दम बहुत है
Paras Nath Jha
जन पक्ष में लेखनी चले
जन पक्ष में लेखनी चले
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
मुर्शिद क़दम-क़दम पर नये लोग मुन्तज़िर हैं हमारे मग़र,
मुर्शिद क़दम-क़दम पर नये लोग मुन्तज़िर हैं हमारे मग़र,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
फितरत अमिट जन एक गहना🌷🌷
फितरत अमिट जन एक गहना🌷🌷
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
Loving someone you don’t see everyday is not a bad thing. It
Loving someone you don’t see everyday is not a bad thing. It
पूर्वार्थ
मौन अधर होंगे
मौन अधर होंगे
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
सच्चे इश्क़ का नाम... राधा-श्याम
सच्चे इश्क़ का नाम... राधा-श्याम
Srishty Bansal
बधाई का गणित / मुसाफ़िर बैठा
बधाई का गणित / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
बातों - बातों में छिड़ी,
बातों - बातों में छिड़ी,
sushil sarna
जीवित रहने से भी बड़ा कार्य है मरने के बाद भी अपने कर्मो से
जीवित रहने से भी बड़ा कार्य है मरने के बाद भी अपने कर्मो से
Rj Anand Prajapati
संवेदना -जीवन का क्रम
संवेदना -जीवन का क्रम
Rekha Drolia
हम तुम्हारे साथ हैं
हम तुम्हारे साथ हैं
विक्रम कुमार
हो गया जो दीदार तेरा, अब क्या चाहे यह दिल मेरा...!!!
हो गया जो दीदार तेरा, अब क्या चाहे यह दिल मेरा...!!!
AVINASH (Avi...) MEHRA
जन गण मन अधिनायक जय हे ! भारत भाग्य विधाता।
जन गण मन अधिनायक जय हे ! भारत भाग्य विधाता।
Neelam Sharma
मोहब्बत
मोहब्बत
डॉ०छोटेलाल सिंह 'मनमीत'
शिछा-दोष
शिछा-दोष
Bodhisatva kastooriya
शिवरात्रि
शिवरात्रि
ऋचा पाठक पंत
3388⚘ *पूर्णिका* ⚘
3388⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
मेरी आंखों ने कुछ कहा होगा
मेरी आंखों ने कुछ कहा होगा
Dr fauzia Naseem shad
एक पुष्प
एक पुष्प
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मैं नहीं मधु का उपासक
मैं नहीं मधु का उपासक
नवीन जोशी 'नवल'
जाहि विधि रहे राम ताहि विधि रहिए
जाहि विधि रहे राम ताहि विधि रहिए
Sanjay ' शून्य'
*पीते-खाते शौक से, सभी समोसा-चाय (कुंडलिया)*
*पीते-खाते शौक से, सभी समोसा-चाय (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
"खरगोश"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...