Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Dec 2023 · 1 min read

मैं इक रोज़ जब सुबह सुबह उठूं

मैं इक रोज़ जब सुबह सुबह उठूं
मुझे तुम याद न रहो
तुम्हारी यादें इतनी धुँधली हो जाये
वो सफेद बर्फ से ढक जाये
वहाँ सूरज की रौशनी पहुंच न पाये
नहीं ऐसा नहीं होगा
इक दिन सूरज आयेगा
उस बर्फ की चादर तक भी पहुँच जायेगा
तुम उसे दिख जाओगे
पर तुम उसका तेज न सह पाओगे
तुम बर्फ से पानी बन जाओगे
और भाप बनकर उड़ जाओगे

180 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
प्रेम के नाम पर मर मिटने वालों की बातें सुनकर हंसी आता है, स
प्रेम के नाम पर मर मिटने वालों की बातें सुनकर हंसी आता है, स
पूर्वार्थ
#drarunkumarshastri
#drarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
इक चितेरा चांद पर से चित्र कितने भर रहा।
इक चितेरा चांद पर से चित्र कितने भर रहा।
umesh mehra
कारगिल दिवस पर
कारगिल दिवस पर
Harminder Kaur
भीष्म देव के मनोभाव शरशैय्या पर
भीष्म देव के मनोभाव शरशैय्या पर
Pooja Singh
"शख्सियत"
Dr. Kishan tandon kranti
केवल
केवल
Shweta Soni
दिल जल रहा है
दिल जल रहा है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
हार कभी मिल जाए तो,
हार कभी मिल जाए तो,
Rashmi Sanjay
तभी भला है भाई
तभी भला है भाई
महेश चन्द्र त्रिपाठी
बहुत मुश्किल होता हैं, प्रिमिकासे हम एक दोस्त बनकर राहते हैं
बहुत मुश्किल होता हैं, प्रिमिकासे हम एक दोस्त बनकर राहते हैं
Sampada
नर जीवन
नर जीवन
नवीन जोशी 'नवल'
किसी से अपनी बांग लगवानी हो,
किसी से अपनी बांग लगवानी हो,
Umender kumar
इश्क़ में सरेराह चलो,
इश्क़ में सरेराह चलो,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
कविता :- दुःख तो बहुत है मगर.. (विश्व कप क्रिकेट में पराजय पर)
कविता :- दुःख तो बहुत है मगर.. (विश्व कप क्रिकेट में पराजय पर)
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
विद्याधन
विद्याधन
Dr. Pradeep Kumar Sharma
2993.*पूर्णिका*
2993.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ऐ जिंदगी
ऐ जिंदगी
अनिल "आदर्श"
"ख़्वाब में आने का वादा जो किया है उसने।
*Author प्रणय प्रभात*
सुरसरि-सा निर्मल बहे, कर ले मन में गेह।
सुरसरि-सा निर्मल बहे, कर ले मन में गेह।
डॉ.सीमा अग्रवाल
राजनीति की नई चौधराहट में घोसी में सभी सिर्फ़ पिछड़ों की बात
राजनीति की नई चौधराहट में घोसी में सभी सिर्फ़ पिछड़ों की बात
Anand Kumar
इंसान तो मैं भी हूं लेकिन मेरे व्यवहार और सस्कार
इंसान तो मैं भी हूं लेकिन मेरे व्यवहार और सस्कार
Ranjeet kumar patre
*Nabi* के नवासे की सहादत पर
*Nabi* के नवासे की सहादत पर
Shakil Alam
17रिश्तें
17रिश्तें
Dr Shweta sood
अजब प्रेम की बस्तियाँ,
अजब प्रेम की बस्तियाँ,
sushil sarna
Quote...
Quote...
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
हिंदुस्तान जिंदाबाद
हिंदुस्तान जिंदाबाद
Aman Kumar Holy
*साड़ी का पल्लू धरे, चली लजाती सास (कुंडलिया)*
*साड़ी का पल्लू धरे, चली लजाती सास (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
💐प्रेम कौतुक-529💐
💐प्रेम कौतुक-529💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ग़ज़ल
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
Loading...