Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Jun 2023 · 1 min read

मेरे दिल ने देखो ये क्या कमाल कर दिया

मेरे दिल ने देखो ये क्या कमाल कर दिया
अपनी अना को खुद मेने पामाल कर दिया……..shabinaZ

223 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from shabina. Naaz
View all
You may also like:
आव्हान
आव्हान
Shyam Sundar Subramanian
आईना ही बता पाए
आईना ही बता पाए
goutam shaw
आजाद पंछी
आजाद पंछी
Ritu Asooja
कुछ नही हो...
कुछ नही हो...
Sapna K S
वोट डालने जाएंगे
वोट डालने जाएंगे
Dr. Reetesh Kumar Khare डॉ रीतेश कुमार खरे
सर्द मौसम में तेरी गुनगुनी याद
सर्द मौसम में तेरी गुनगुनी याद
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
कोशिश न करना
कोशिश न करना
surenderpal vaidya
जीवनी स्थूल है/सूखा फूल है
जीवनी स्थूल है/सूखा फूल है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
स्वर्ण दलों से पुष्प की,
स्वर्ण दलों से पुष्प की,
sushil sarna
2673.*पूर्णिका*
2673.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"शब्द"
Dr. Kishan tandon kranti
पिता
पिता
Manu Vashistha
एक शाम ठहर कर देखा
एक शाम ठहर कर देखा
Kunal Prashant
हौसला
हौसला
डॉ. शिव लहरी
Tum har  wakt hua krte the kbhi,
Tum har wakt hua krte the kbhi,
Sakshi Tripathi
इश्क पहली दफा
इश्क पहली दफा
साहित्य गौरव
*आइसक्रीम (बाल कविता)*
*आइसक्रीम (बाल कविता)*
Ravi Prakash
जिन्दगी है की अब सम्हाली ही नहीं जाती है ।
जिन्दगी है की अब सम्हाली ही नहीं जाती है ।
Buddha Prakash
ऐसे लहज़े में जब लिखते हो प्रीत को,
ऐसे लहज़े में जब लिखते हो प्रीत को,
Amit Pathak
#लघुकविता-
#लघुकविता-
*Author प्रणय प्रभात*
बहुत ख्वाब देखता हूँ मैं
बहुत ख्वाब देखता हूँ मैं
gurudeenverma198
जन्माष्टमी महोत्सव
जन्माष्टमी महोत्सव
Neeraj Agarwal
सामाजिक न्याय
सामाजिक न्याय
Shekhar Chandra Mitra
"किसी की याद मे आँखे नम होना,
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
गंवई गांव के गोठ
गंवई गांव के गोठ
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
शायर तो नहीं
शायर तो नहीं
Bodhisatva kastooriya
💐प्रेम कौतुक-267💐
💐प्रेम कौतुक-267💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मनहरण घनाक्षरी
मनहरण घनाक्षरी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
'तिमिर पर ज्योति'🪔🪔
'तिमिर पर ज्योति'🪔🪔
पंकज कुमार कर्ण
दोहे
दोहे "हरियाली तीज"
Vaishali Rastogi
Loading...