Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 2, 2019 · 1 min read

मेरी पसंदीदा मिठाई को पत्र

मेरी प्यारी रबड़ी
आप के दीदार को मेरा मतलब है स्वाद को तरसती है जिव्हा।आप से भेंट बहुत कम ही हो पाती है। आजकल आप ज्यादातर मौकों पर और शादी समारोहों में भी आप कम ही पधारती हैं। मुझे तो आप जानती ही हो कितना प्रेम है आप से। आपकी बात करते ही, आपका नाम सुनते ही मुंह में पानी क्या आता है पानी से मुंह भर ही जाता है।
मेरी प्रिया लच्छे दार रबड़ी रानी,
आपकी याद में, आपकी विरह वेदना में कई बार तो मेरी ऐसी हालत हो जाती है कि बेचैनी में फड़फड़ाहट बढ़ जाती है कारण आपका कुछ नखरैलाअंदाज, कुछ अलग हटकर मिजाज़ कि–
“रबड़ी हर जगह नहीं मिला करती ”
परन्तु मेरे जैसा मिठाइयों को मुंह न लगाने वाला नकचढ़ा इंसान आपके लच्छे दार स्वाद के प्रेम जाल में फंस कर आपका ऐसा दीवाना हो गया है कि आपके खूबसूरत लच्छों में उलझ गया मेरा दिल।
हर हलवाई हर मिठाई की दुकान पर आपके दर्शन न हो पाने के कारण मेरा आपके प्रति आकर्षण और अधिक बढ़ जाता है और आखिरकार शहर की गली- गली भटकते हुए आपको ढूंढ ही लेते हैं। फिर तो चट करके ही दम लेते हैं कि पता नहीं दोबारा कब आमना-सामना हो जैसा कि अभी कुछ दिन पहले हुआ था अपना मिलन।
अपने पुनर्मिलन की आस लिए।
तुम्हारे चाहने वाले
रंजना माथुर

रंजना माथुर
अजमेर (राजस्थान )
मेरी स्व रचित व मौलिक रचना
©

256 Views
You may also like:
मेरी हर शय बात करती है
Sandeep Albela
इंद्रधनुष
Arjun Chauhan
लोभ का जमाना
AMRESH KUMAR VERMA
पिता
Meenakshi Nagar
खैरियत का जवाब आया
Seema 'Tu haina'
$प्रीतम के दोहे
आर.एस. 'प्रीतम'
तन्हा ही खूबसूरत हूं मैं।
शक्ति राव मणि
पिता भगवान का अवतार होता है।
Taj Mohammad
चम्पा पुष्प से भ्रमर क्यों दूर रहता है
Subhash Singhai
मिलन-सुख की गजल-जैसा तुम्हें फैसन ने ढाला है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
इज़हार-ए-इश्क 2
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
नशा कऽ क नहि गबावं अपन जान यौ
VY Entertainment
जागो राजू, जागो...
मनोज कर्ण
सुनो ना
shabina. Naaz
बद्दुआ बन गए है।
Taj Mohammad
फ़ालतू बात यही है
gurudeenverma198
💐💐सेवा अर्थात् विलक्षणं सुखं💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हमारे शुभेक्षु पिता
Aditya Prakash
चाहतें है राहतें है।
Taj Mohammad
ईद हो जायेगी।
Taj Mohammad
नफरत
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
माँ
Prabhat Prajapati
जाने क्यों वो सहमी सी ?
Saraswati Bajpai
शिव और सावन
सिद्धार्थ गोरखपुरी
सोच तेरी हो
Dr fauzia Naseem shad
खुदाई भरी पड़ी है।
Taj Mohammad
जीवन उर्जा ईश्वर का वरदान है।
Anamika Singh
एक दूजे के लिए हम ही सहारे हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
शायरी संग्रह
श्याम सिंह बिष्ट
योग है अनमोल साधना
Anamika Singh
Loading...