Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Mar 2024 · 1 min read

मेरी किस्मत

💐💐दोहा निवेदन💐💐

मूंड पचायो मैं घणो , कोना हुयो निहाल ।
किस्मत ऐसी दोगली , बैठा दी पाताल ।।

भवानी सिंह ‘भूधर’
बड़नगर जयपुर

Language: Rajasthani
74 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
अंधकार जितना अधिक होगा प्रकाश का प्रभाव भी उसमें उतना गहरा औ
अंधकार जितना अधिक होगा प्रकाश का प्रभाव भी उसमें उतना गहरा औ
Rj Anand Prajapati
जिन्दगी कभी नाराज होती है,
जिन्दगी कभी नाराज होती है,
Ragini Kumari
रामराज्य
रामराज्य
Suraj Mehra
हे परम पिता !
हे परम पिता !
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
कल पापा की परी को उड़ाने के लिए छत से धक्का दिया..!🫣💃
कल पापा की परी को उड़ाने के लिए छत से धक्का दिया..!🫣💃
SPK Sachin Lodhi
Upon the Himalayan peaks
Upon the Himalayan peaks
Monika Arora
પૃથ્વી
પૃથ્વી
Otteri Selvakumar
शांति वन से बापू बोले, होकर आहत हे राम रे
शांति वन से बापू बोले, होकर आहत हे राम रे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
I haven’t always been a good person.
I haven’t always been a good person.
पूर्वार्थ
बड़ी मुश्किल है
बड़ी मुश्किल है
Basant Bhagawan Roy
I love to vanish like that shooting star.
I love to vanish like that shooting star.
Manisha Manjari
2356.पूर्णिका
2356.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
*जाते देखो भक्तजन, तीर्थ अयोध्या धाम (कुंडलिया)*
*जाते देखो भक्तजन, तीर्थ अयोध्या धाम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
मैं ज्योति हूँ निरन्तर जलती रहूँगी...!!!!
मैं ज्योति हूँ निरन्तर जलती रहूँगी...!!!!
Jyoti Khari
■ चाची 42प का उस्ताद।
■ चाची 42प का उस्ताद।
*प्रणय प्रभात*
Drapetomania
Drapetomania
Vedha Singh
तुम बिन रहें तो कैसे यहां लौट आओ तुम।
तुम बिन रहें तो कैसे यहां लौट आओ तुम।
सत्य कुमार प्रेमी
ये भी क्या जीवन है,जिसमें श्रृंगार भी किया जाए तो किसी के ना
ये भी क्या जीवन है,जिसमें श्रृंगार भी किया जाए तो किसी के ना
Shweta Soni
रंग भरी पिचकारियाँ,
रंग भरी पिचकारियाँ,
sushil sarna
दिन सुखद सुहाने आएंगे...
दिन सुखद सुहाने आएंगे...
डॉ.सीमा अग्रवाल
एतबार इस जमाने में अब आसान नहीं रहा,
एतबार इस जमाने में अब आसान नहीं रहा,
manjula chauhan
दिल तसल्ली को
दिल तसल्ली को
Dr fauzia Naseem shad
" नारी का दुख भरा जीवन "
Surya Barman
बाल कविता: मोटर कार
बाल कविता: मोटर कार
Rajesh Kumar Arjun
रक्षाबंधन
रक्षाबंधन
Harminder Kaur
गज़ल बन कर किसी के दिल में उतर जाता हूं,
गज़ल बन कर किसी के दिल में उतर जाता हूं,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
तेरे लिखे में आग लगे / MUSAFIR BAITHA
तेरे लिखे में आग लगे / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
नींद
नींद
Kanchan Khanna
हाजीपुर
हाजीपुर
Hajipur
#शिवाजी_के_अल्फाज़
#शिवाजी_के_अल्फाज़
Abhishek Shrivastava "Shivaji"
Loading...