Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Aug 2023 · 1 min read

मुस्कराहटों के पीछे

मुस्कराहटों के पीछे,छिपे हैं कितने ही दर्द।
लबों की हंसी के पीछे,छिपी हुई आंहे सर्द।

कितनी मर्तबा अश्क रोके मैंने होंठ भींच कर‌
कितनी बार आंसू पोंछे मैंने खुद को मींच कर।

बहुत कहानियां समेटे ये मेरे मुख की मुस्कान।
दिल पर कितने दर्द लपेटे,सोच में है भगवान।

कौन समझे, मुस्कराहटों की अजब आवारगी
दिल वाले ही समझ पाये है इसकी तिश्रनगी।

मान लो,हर मुस्कराहट के पीछे नहीं मुस्कान
कोई तो मिले हमें भी ,समझने को इंसान।

सुरिंदर कौर

Language: Hindi
1 Like · 138 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Surinder blackpen
View all
You may also like:
विद्या देती है विनय, शुद्ध  सुघर व्यवहार ।
विद्या देती है विनय, शुद्ध सुघर व्यवहार ।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
हाँ, मैं तुमसे ----------- मगर ---------
हाँ, मैं तुमसे ----------- मगर ---------
gurudeenverma198
तोड़ सको तो तोड़ दो ,
तोड़ सको तो तोड़ दो ,
sushil sarna
जिंदगी के रंगमंच में हम सभी अकेले हैं।
जिंदगी के रंगमंच में हम सभी अकेले हैं।
Neeraj Agarwal
बात बनती हो जहाँ,  बात बनाए रखिए ।
बात बनती हो जहाँ, बात बनाए रखिए ।
Rajesh Tiwari
कविता ही तो परंम सत्य से, रूबरू हमें कराती है
कविता ही तो परंम सत्य से, रूबरू हमें कराती है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
2755. *पूर्णिका*
2755. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
संवेदना(फूल)
संवेदना(फूल)
Dr. Vaishali Verma
कविता -
कविता - "सर्दी की रातें"
Anand Sharma
नम आंखे बचपन खोए
नम आंखे बचपन खोए
Neeraj Mishra " नीर "
रक्षा है उस मूल्य की,
रक्षा है उस मूल्य की,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पिता
पिता
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
हे भगवान तुम इन औरतों को  ना जाने किस मिट्टी का बनाया है,
हे भगवान तुम इन औरतों को ना जाने किस मिट्टी का बनाया है,
Dr. Man Mohan Krishna
A last warning
A last warning
Bindesh kumar jha
आज यादों की अलमारी खोली
आज यादों की अलमारी खोली
Rituraj shivem verma
दृढ़ आत्मबल की दरकार
दृढ़ आत्मबल की दरकार
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
विशुद्ध व्याकरणीय
विशुद्ध व्याकरणीय
*प्रणय प्रभात*
" खामोश आंसू "
Aarti sirsat
To be Invincible,
To be Invincible,
Dhriti Mishra
तुम मेरी
तुम मेरी
हिमांशु Kulshrestha
Falling Out Of Love
Falling Out Of Love
Vedha Singh
कुण्डल / उड़ियाना छंद
कुण्डल / उड़ियाना छंद
Subhash Singhai
अटल सत्य मौत ही है (सत्य की खोज)
अटल सत्य मौत ही है (सत्य की खोज)
VINOD CHAUHAN
बड्ड यत्न सँ हम
बड्ड यत्न सँ हम
DrLakshman Jha Parimal
"" *नारी* ""
सुनीलानंद महंत
जिंदगी बेहद रंगीन है और कुदरत का करिश्मा देखिए लोग भी रंग बद
जिंदगी बेहद रंगीन है और कुदरत का करिश्मा देखिए लोग भी रंग बद
Rekha khichi
"महापाप"
Dr. Kishan tandon kranti
प्रकृति ने चेताया जग है नश्वर
प्रकृति ने चेताया जग है नश्वर
Buddha Prakash
पैसा बोलता है
पैसा बोलता है
Mukesh Kumar Sonkar
सत्य की खोज
सत्य की खोज
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
Loading...