Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Sep 2022 · 1 min read

मुश्किल है बहुत

जैसा हूं मैं अंदर से उसे वैसा ही दिखाना ।
मुश्किल है बहुत दर्द की तस्वीर बनाना ।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

Language: Hindi
Tag: शेर
7 Likes · 213 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr fauzia Naseem shad
View all
You may also like:
संघर्ष
संघर्ष
विजय कुमार अग्रवाल
चेहरा देख के नहीं स्वभाव देख कर हमसफर बनाना चाहिए क्योंकि चे
चेहरा देख के नहीं स्वभाव देख कर हमसफर बनाना चाहिए क्योंकि चे
Ranjeet kumar patre
*चिंता चिता समान है*
*चिंता चिता समान है*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
तुम्हारी याद है और उम्र भर की शाम बाकी है,
तुम्हारी याद है और उम्र भर की शाम बाकी है,
Ankur Rawat
" चले आना "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
#दोहा-
#दोहा-
*Author प्रणय प्रभात*
❤इस दिल में अरमान बहुत है 💙
❤इस दिल में अरमान बहुत है 💙
Dr.Khedu Bharti
अजी सुनते हो मेरे फ्रिज में टमाटर भी है !
अजी सुनते हो मेरे फ्रिज में टमाटर भी है !
Anand Kumar
जीवन सभी का मस्त है
जीवन सभी का मस्त है
Neeraj Agarwal
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
** सावन चला आया **
** सावन चला आया **
surenderpal vaidya
अहं का अंकुर न फूटे,बनो चित् मय प्राण धन
अहं का अंकुर न फूटे,बनो चित् मय प्राण धन
Pt. Brajesh Kumar Nayak
ख़ुशी मिले कि मिले ग़म मुझे मलाल नहीं
ख़ुशी मिले कि मिले ग़म मुझे मलाल नहीं
Anis Shah
असंतुष्ट और चुगलखोर व्यक्ति
असंतुष्ट और चुगलखोर व्यक्ति
Dr.Rashmi Mishra
ज़िन्दगी की गोद में
ज़िन्दगी की गोद में
Rashmi Sanjay
हे! नव युवको !
हे! नव युवको !
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
अंग प्रदर्शन करने वाले जितने भी कलाकार है उनके चरित्र का अस्
अंग प्रदर्शन करने वाले जितने भी कलाकार है उनके चरित्र का अस्
Rj Anand Prajapati
कविता
कविता
sushil sarna
तारीख़ के बनने तक
तारीख़ के बनने तक
Dr fauzia Naseem shad
💐प्रेम कौतुक-387💐
💐प्रेम कौतुक-387💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*शादी की जो आयु थी, अब पढ़ने की आयु (कुंडलिया)*
*शादी की जो आयु थी, अब पढ़ने की आयु (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
*नीम का पेड़*
*नीम का पेड़*
Radhakishan R. Mundhra
तेवरी
तेवरी
कवि रमेशराज
I am Me - Redefined
I am Me - Redefined
Dhriti Mishra
हालातों से युद्ध हो हुआ।
हालातों से युद्ध हो हुआ।
Kuldeep mishra (KD)
मेरे फितरत में ही नहीं है
मेरे फितरत में ही नहीं है
नेताम आर सी
"साम","दाम","दंड" व् “भेद" की व्यथा
Dr. Harvinder Singh Bakshi
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – भातृ वध – 05
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – भातृ वध – 05
Kirti Aphale
#justareminderekabodhbalak
#justareminderekabodhbalak
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हम भी तो देखे
हम भी तो देखे
हिमांशु Kulshrestha
Loading...