Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Jul 2023 · 1 min read

मुक्तक

मुक्तक

बाबा के डंडा में है, इतना दम।
यूपी में हुआ,कसाई गुंडा कम।
कुछ भागे,दुम उठाकर दिल्ली;
बाकी बिहार में नाचे,छम-छम।

स्वरचित सह मौलिक;
..✍🏻 पंकज कर्ण
…कटिहार(बिहार)

Language: Hindi
1 Like · 424 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from पंकज कुमार कर्ण
View all
You may also like:
रिश्ते
रिश्ते
Ram Krishan Rastogi
नया साल
नया साल
Arvina
*कोटि-कोटि हे जय गणपति हे, जय जय देव गणेश (गीतिका)*
*कोटि-कोटि हे जय गणपति हे, जय जय देव गणेश (गीतिका)*
Ravi Prakash
एक कुंडलियां छंद-
एक कुंडलियां छंद-
Vijay kumar Pandey
जिंदगी का सफर
जिंदगी का सफर
Dr. Pradeep Kumar Sharma
तुम जिसे झूठ मेरा कहते हो
तुम जिसे झूठ मेरा कहते हो
Shweta Soni
सरिए से बनाई मोहक कलाकृतियां……..
सरिए से बनाई मोहक कलाकृतियां……..
Nasib Sabharwal
कौन्तय
कौन्तय
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
आगाज़-ए-नववर्ष
आगाज़-ए-नववर्ष
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
तेरी पनाह.....!
तेरी पनाह.....!
VEDANTA PATEL
आइना देखा तो खुद चकरा गए।
आइना देखा तो खुद चकरा गए।
सत्य कुमार प्रेमी
हिंदी है पहचान
हिंदी है पहचान
Seema gupta,Alwar
सत्य क्या है ?
सत्य क्या है ?
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
अंबर तारों से भरा, फिर भी काली रात।
अंबर तारों से भरा, फिर भी काली रात।
लक्ष्मी सिंह
रमेशराज की पद जैसी शैली में तेवरियाँ
रमेशराज की पद जैसी शैली में तेवरियाँ
कवि रमेशराज
धमकी तुमने दे डाली
धमकी तुमने दे डाली
Shravan singh
3456🌷 *पूर्णिका* 🌷
3456🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
अक्षर ज्ञान नहीं है बल्कि उस अक्षर का को सही जगह पर उपयोग कर
अक्षर ज्ञान नहीं है बल्कि उस अक्षर का को सही जगह पर उपयोग कर
Rj Anand Prajapati
प्यार मेरा बना सितारा है --
प्यार मेरा बना सितारा है --
Seema Garg
नारी
नारी
विनोद वर्मा ‘दुर्गेश’
"ऐ मुसाफिर"
Dr. Kishan tandon kranti
दीवारों में दीवारे न देख
दीवारों में दीवारे न देख
Dr. Sunita Singh
कुछ लोग कहते हैं कि मुहब्बत बस एक तरफ़ से होती है,
कुछ लोग कहते हैं कि मुहब्बत बस एक तरफ़ से होती है,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
कस्तूरी इत्र
कस्तूरी इत्र
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
मन्नतों के धागे होते है बेटे
मन्नतों के धागे होते है बेटे
Sandhya Chaturvedi(काव्यसंध्या)
दूर हमसे वो जब से जाने लगे हैंं ।
दूर हमसे वो जब से जाने लगे हैंं ।
Anil chobisa
विश्वास किसी पर इतना करो
विश्वास किसी पर इतना करो
नेताम आर सी
हजारों के बीच भी हम तन्हा हो जाते हैं,
हजारों के बीच भी हम तन्हा हो जाते हैं,
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
सबकी जात कुजात
सबकी जात कुजात
मानक लाल मनु
अद्यावधि शिक्षा मां अनन्तपर्यन्तं नयति।
अद्यावधि शिक्षा मां अनन्तपर्यन्तं नयति।
शक्ति राव मणि
Loading...