Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Mar 2023 · 1 min read

मुक्तक

शैल विषमताओं का है तो
कहीं प्रेम का झरना होगा।
अपने पथ के शूल हटाकर
सफ़र तुम्हें तय करना होगा।
मिलन उबासी से जो भर दें ,
डरना है उन सम्बन्धों से
कपट -द्वेष- षड्यंत्र जहाॅं पर,
सखे! वहाँ न ठहरना होगा।

रश्मि लहर

Language: Hindi
3 Likes · 1 Comment · 306 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
Miracles in life are done by those who had no other
Miracles in life are done by those who had no other "options
Nupur Pathak
शिकायत करते- करते
शिकायत करते- करते
Meera Thakur
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
पूर्ण विराग
पूर्ण विराग
लक्ष्मी सिंह
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
केही कथा/इतिहास 'Pen' ले र केही 'Pain' ले लेखिएको पाइन्छ।'Pe
केही कथा/इतिहास 'Pen' ले र केही 'Pain' ले लेखिएको पाइन्छ।'Pe
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
■ आज का विचार...
■ आज का विचार...
*प्रणय प्रभात*
,,,,,,,,,,,,?
,,,,,,,,,,,,?
शेखर सिंह
मुझे बिखरने मत देना
मुझे बिखरने मत देना
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
मंगलमय हो नववर्ष सखे आ रहे अवध में रघुराई।
मंगलमय हो नववर्ष सखे आ रहे अवध में रघुराई।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
जीवन छोटा सा कविता
जीवन छोटा सा कविता
कार्तिक नितिन शर्मा
कुछ बात थी
कुछ बात थी
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
चेहरे का यह सबसे सुन्दर  लिबास  है
चेहरे का यह सबसे सुन्दर लिबास है
Anil Mishra Prahari
खुल जाता है सुबह उठते ही इसका पिटारा...
खुल जाता है सुबह उठते ही इसका पिटारा...
shabina. Naaz
There is nothing wrong with slowness. All around you in natu
There is nothing wrong with slowness. All around you in natu
पूर्वार्थ
पिता के प्रति श्रद्धा- सुमन
पिता के प्रति श्रद्धा- सुमन
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
बच्चे ही अच्छे हैं
बच्चे ही अच्छे हैं
Diwakar Mahto
3378⚘ *पूर्णिका* ⚘
3378⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
"Awakening by the Seashore"
Manisha Manjari
अरमान
अरमान
Kanchan Khanna
पलटूराम में भी राम है
पलटूराम में भी राम है
Sanjay ' शून्य'
श्राद्ध पक्ष के दोहे
श्राद्ध पक्ष के दोहे
sushil sarna
मन मस्तिष्क और तन को कुछ समय आराम देने के लिए उचित समय आ गया
मन मस्तिष्क और तन को कुछ समय आराम देने के लिए उचित समय आ गया
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
छल फरेब की बात, कभी भूले मत करना।
छल फरेब की बात, कभी भूले मत करना।
surenderpal vaidya
नफ़रत
नफ़रत
विजय कुमार अग्रवाल
हक जता तो दू
हक जता तो दू
Swami Ganganiya
किस्मत
किस्मत
Neeraj Agarwal
*ख़ुशी की बछिया* ( 15 of 25 )
*ख़ुशी की बछिया* ( 15 of 25 )
Kshma Urmila
Mushaakil musaddas saalim
Mushaakil musaddas saalim
sushil yadav
सृजन
सृजन
Rekha Drolia
Loading...