Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
3 Feb 2017 · 1 min read

मुक्तक

तेरा नाम लेकर तन्हाई मिल जाती है!
तेरा दर्द बनकर रुसवाई मिल जाती है!
शामों-सहर भटकता हूँ मैं तेरे लिए मगर,
मेरी जिन्द़गी को जुदाई मिल जाती है!

#महादेव_की_कविताऐं'(25)

Language: Hindi
Tag: मुक्तक
339 Views
You may also like:
मैं पिता हूं।
मैं पिता हूं।
Taj Mohammad
मेरा शिमला
मेरा शिमला
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
"जिस में लज़्ज़त वही लाजवाब।
*Author प्रणय प्रभात*
Kagaj ke chand tukado ko , maine apna alfaj bana liya .
Kagaj ke chand tukado ko , maine apna alfaj bana...
Sakshi Tripathi
जो वक़्त के सवाल पर
जो वक़्त के सवाल पर
Dr fauzia Naseem shad
तेरी याद
तेरी याद
Umender kumar
आ जाते जो एक बार
आ जाते जो एक बार
Kavita Chouhan
उमीद-ए-फ़स्ल का होना है ख़ून लानत है
उमीद-ए-फ़स्ल का होना है ख़ून लानत है
Anis Shah
पेड़ पौधों के प्रति मेरा वैज्ञानिक समर्पण
पेड़ पौधों के प्रति मेरा वैज्ञानिक समर्पण
Ankit Halke jha
वह है बहन।
वह है बहन।
Satish Srijan
दुर्बल कायर का ही तो बाली आधा वल हर पाता है।
दुर्बल कायर का ही तो बाली आधा वल हर पाता...
umesh mehra
*बुढ़ापे में जवानी हो 【मुक्तक】*
*बुढ़ापे में जवानी हो 【मुक्तक】*
Ravi Prakash
बच्चे को उपहार ना दिया जाए,
बच्चे को उपहार ना दिया जाए,
Shubham Pandey (S P)
बाल कविता हिन्दी वर्णमाला
बाल कविता हिन्दी वर्णमाला
Ram Krishan Rastogi
बहुत समय बाद !
बहुत समय बाद !
Ranjana Verma
मैं तेरे अहसानों से ऊबर भी  जाऊ
मैं तेरे अहसानों से ऊबर भी जाऊ
Swami Ganganiya
रंगों के पावन पर्व होली की हार्दिक बधाई व अनन्त शुभकामनाएं
रंगों के पावन पर्व होली की हार्दिक बधाई व अनन्त...
अटल मुरादाबादी, ओज व व्यंग कवि
ਤਰੀਕੇ ਹੋਰ ਵੀ ਨੇ
ਤਰੀਕੇ ਹੋਰ ਵੀ ਨੇ
Surinder blackpen
🇭🇺 श्रीयुत अटलबिहारी जी
🇭🇺 श्रीयुत अटलबिहारी जी
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मां का घर
मां का घर
Yogi B
आरुणि की गुरुभक्ति
आरुणि की गुरुभक्ति
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मृत्यु भोज (#मैथिली_कविता)
मृत्यु भोज (#मैथिली_कविता)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
मोहब्बत जिससे हमने की है गद्दारी नहीं की।
मोहब्बत जिससे हमने की है गद्दारी नहीं की।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
आओ प्यार कर लें
आओ प्यार कर लें
Shekhar Chandra Mitra
वाह-वाह की लूट है
वाह-वाह की लूट है
Dr. Sunita Singh
💐अज्ञात के प्रति-56💐
💐अज्ञात के प्रति-56💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
✍️मेरी माँ ✍️
✍️मेरी माँ ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
The Digi Begs [The Online Beggars]
The Digi Begs [The Online Beggars]
AJAY AMITABH SUMAN
जान का नया बवाल
जान का नया बवाल
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
"मेरा मन"
Dr Meenu Poonia
Loading...