Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
23 Jan 2017 · 1 min read

मुक्तक

देखकर जिसको हमें करार मिलता है!
ऐसा नसीब से हमें प्यार मिलता है!
याद करता हो हमें हर घड़ी दिल़ से,
ऐसा कभी कभी हमें यार मिलता है!

#महादेव_की_कविताऐं’

Language: Hindi
292 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सराब -ए -आप में खो गया हूं ,
सराब -ए -आप में खो गया हूं ,
Shyam Sundar Subramanian
इच्छा शक्ति अगर थोड़ी सी भी हो तो निश्चित
इच्छा शक्ति अगर थोड़ी सी भी हो तो निश्चित
Paras Nath Jha
"उजाड़"
Dr. Kishan tandon kranti
कहानी
कहानी
कवि रमेशराज
शिक्षा अपनी जिम्मेदारी है
शिक्षा अपनी जिम्मेदारी है
Buddha Prakash
सब कुछ हो जब पाने को,
सब कुछ हो जब पाने को,
manjula chauhan
ग़र वो जानना चाहतें तो बताते हम भी,
ग़र वो जानना चाहतें तो बताते हम भी,
ओसमणी साहू 'ओश'
प्रकृति सुर और संगीत
प्रकृति सुर और संगीत
Ritu Asooja
वाह टमाटर !!
वाह टमाटर !!
Ahtesham Ahmad
आज का इंसान ज्ञान से शिक्षित से पर व्यवहार और सामजिक साक्षरत
आज का इंसान ज्ञान से शिक्षित से पर व्यवहार और सामजिक साक्षरत
पूर्वार्थ
मंजिल
मंजिल
Dr. Pradeep Kumar Sharma
पितृ दिवस
पितृ दिवस
Ram Krishan Rastogi
Yaade tumhari satane lagi h
Yaade tumhari satane lagi h
Kumar lalit
*अपनी-अपनी चमक दिखा कर, सबको ही गुम होना है (मुक्तक)*
*अपनी-अपनी चमक दिखा कर, सबको ही गुम होना है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
कहने से हो जाता विकास, हाल यह अब नहीं होता
कहने से हो जाता विकास, हाल यह अब नहीं होता
gurudeenverma198
फितरत की बातें
फितरत की बातें
Mahendra Narayan
सियासत
सियासत "झूठ" की
*Author प्रणय प्रभात*
वसंततिलका छन्द
वसंततिलका छन्द
Neelam Sharma
जिंदगी
जिंदगी
Bodhisatva kastooriya
मीठे बोल
मीठे बोल
Sanjay ' शून्य'
2288.पूर्णिका
2288.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
हर एक शख्स से ना गिला किया जाए
हर एक शख्स से ना गिला किया जाए
कवि दीपक बवेजा
हवाओ में हुं महसूस करो
हवाओ में हुं महसूस करो
Rituraj shivem verma
तुम्हे नया सा अगर कुछ मिल जाए
तुम्हे नया सा अगर कुछ मिल जाए
सिद्धार्थ गोरखपुरी
इंसान अच्छा है या बुरा यह समाज के चार लोग नहीं बल्कि उसका सम
इंसान अच्छा है या बुरा यह समाज के चार लोग नहीं बल्कि उसका सम
Gouri tiwari
दीपावली त्यौहार
दीपावली त्यौहार
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
चॉंद और सूरज
चॉंद और सूरज
Ravi Ghayal
आइसक्रीम
आइसक्रीम
Neeraj Agarwal
हर शय¹ की अहमियत होती है अपनी-अपनी जगह
हर शय¹ की अहमियत होती है अपनी-अपनी जगह
_सुलेखा.
मिले
मिले
DR. Kaushal Kishor Shrivastava
Loading...