Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Jul 2016 · 1 min read

*** मुक्तक : क्यूँ आतंकी प्यारे लगते ***

** मुक्तक : क्यूँ आतंकी प्यारे लगते **
क्यूँ आतंकी प्यारे लगते बद्जुबानी नेता को ,
मृत्यु का फरमान सुना दो अब गद्दारी नेता को,
जान गँवाते वीरों का ये नित अपमान करते हैं ,
ठोक पीट जमीं मे गाडो इन गद्दारी नेता को ।
******* सुरेशपाल वर्मा जसाला

Language: Hindi
2 Comments · 697 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मन्दिर में है प्राण प्रतिष्ठा , न्यौता सबका आने को...
मन्दिर में है प्राण प्रतिष्ठा , न्यौता सबका आने को...
Shubham Pandey (S P)
विध्वंस का शैतान
विध्वंस का शैतान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
जिसकी भी आप तलाश मे हैं, वह आपके अन्दर ही है।
जिसकी भी आप तलाश मे हैं, वह आपके अन्दर ही है।
Yogi Yogendra Sharma : Motivational Speaker
तेरी याद आती है
तेरी याद आती है
Akash Yadav
*मन के धागे बुने तो नहीं है*
*मन के धागे बुने तो नहीं है*
Buddha Prakash
मलाल आते हैं
मलाल आते हैं
Dr fauzia Naseem shad
*क्यों बुद्ध मैं कहलाऊं?*
*क्यों बुद्ध मैं कहलाऊं?*
Lokesh Singh
मेरी कलम से…
मेरी कलम से…
Anand Kumar
'सफलता' वह मुकाम है, जहाँ अपने गुनाहगारों को भी गले लगाने से
'सफलता' वह मुकाम है, जहाँ अपने गुनाहगारों को भी गले लगाने से
satish rathore
पतझड़ के मौसम हो तो पेड़ों को संभलना पड़ता है
पतझड़ के मौसम हो तो पेड़ों को संभलना पड़ता है
कवि दीपक बवेजा
नई शुरावत नई कहानियां बन जाएगी
नई शुरावत नई कहानियां बन जाएगी
पूर्वार्थ
💐प्रेम कौतुक-466💐
💐प्रेम कौतुक-466💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*बारिश का मौसम है प्यारा (बाल कविता)*
*बारिश का मौसम है प्यारा (बाल कविता)*
Ravi Prakash
तुझे खुश देखना चाहता था
तुझे खुश देखना चाहता था
Kumar lalit
समझ
समझ
Shyam Sundar Subramanian
पर्यावरण
पर्यावरण
Manu Vashistha
अन्तिम स्वीकार ....
अन्तिम स्वीकार ....
sushil sarna
कड़वी  बोली बोल के
कड़वी बोली बोल के
Paras Nath Jha
■ खोज-बीन...
■ खोज-बीन...
*Author प्रणय प्रभात*
हरा न पाये दौड़कर,
हरा न पाये दौड़कर,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
एक फूल
एक फूल
Anil "Aadarsh"
सच, सच-सच बताना
सच, सच-सच बताना
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
बताता कहां
बताता कहां
umesh mehra
"ख़ामोशी"
Pushpraj Anant
2519.पूर्णिका
2519.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
सुनो पहाड़ की.....!!! (भाग - ६)
सुनो पहाड़ की.....!!! (भाग - ६)
Kanchan Khanna
Perceive Exams as a festival
Perceive Exams as a festival
Tushar Jagawat
नियोजित शिक्षक का भविष्य
नियोजित शिक्षक का भविष्य
साहिल
गजल
गजल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
Loading...