Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jun 2016 · 1 min read

मिला है दर्द जो तेरे निगाहों का असर है ये।

मिला है दर्द जो तेरे निगाहों का असर है वो।
पता मुझको नहीं था बेवफाओं का शहर है वो।

कई ही लोग मिटते रह गए है इश्क़ में पड़कर,
नहीं उसका नहीं यारों, सहारों का कहर है वो।

कहूँ मैं क्या कभी वो तो निकलते ही नहीं घर से,
सदा देखूं जिसे, ऐसे ही ख्वाबों का पहर है वो।

सलामत तो अभी हूँ फ़िक्र मुझको जो नहीं कल की,
खफा होता नहीं हूँ,,,,,, प्यार में जैसे जहर है वो।

सताना और समझाना हुनर है एक गर उसका,
अदाओ से भरी है वो, समंदर की लहर है वो।

भला करता नहीं कोई कभी औरों के खातिर क्यों,
लगे जैसे,, किसी के बद्दुआओं का असर है वो।

कहाँ मैं हूँ, कहाँ तुम हो, कहाँ मैं जानता था ये,
तुझे जो ढूंढता रहता शुभम् की ही नजर है वो।
-शुभम् वैष्णव

Language: Hindi
Tag: शेर
2 Comments · 188 Views
You may also like:
सबको दुनियां और मंजिल से मिलाता है पिता।
सत्य कुमार प्रेमी
सपने 【 कुंडलिया】
Ravi Prakash
कुछ तो बोल
Harshvardhan "आवारा"
जिंदगी
AMRESH KUMAR VERMA
पहले वाली मोहब्बत।
Taj Mohammad
✍️दुनियां को यार फिदा कर...
'अशांत' शेखर
गोवर्धन पूजन
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
नायिका की सुंदरता की उपमाएं
Ram Krishan Rastogi
✍️दो पल का सुकून ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
टूटता तारा
Anamika Singh
देवदासी
Shekhar Chandra Mitra
आत्महीनता एक अभिशाप
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
ज़रूरत के रिश्ते निभते कहां हैं
Dr fauzia Naseem shad
यह कौन सा विधान है
Vishnu Prasad 'panchotiya'
“ पागल -प्रेमी ”
DrLakshman Jha Parimal
- में अनाथ हु -
bharat gehlot
क्षणिकायें-पर्यावरण चिंतन
राजेश 'ललित'
ज़ुबान से फिर गया नज़र के सामने
कुमार अविनाश केसर
पढ़ाई कैरियर और शादी
विजय कुमार अग्रवाल
मुहब्बत भी क्या है
shabina. Naaz
पहली मुहब्बत थी वो
अभिनव अदम्य
मौत बाटे अटल
आकाश महेशपुरी
अब आगाज यहाँ
vishnushankartripathi7
कतिपय दोहे...
डॉ.सीमा अग्रवाल
BADA LADKA
Prasanjeetsharma065
जालिम कोरोना
Dr Meenu Poonia
सोचो जो बेटी ना होती
लक्ष्मी सिंह
అభివృద్ధి చెందిన లోకం
विजय कुमार 'विजय'
बख्स मुझको रहमत वो अंदाज़ मिल जाए
VINOD KUMAR CHAUHAN
हे तात ! कहा तुम चले गए...
मनोज कर्ण
Loading...