Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings

मिटा ले यार दिल की तश्नगी को

मिटा ले यार दिल की तश्नगी को
जगा दिल में ज़रा आवारगी को

दिले जज़्बात ले के दिल हूँ आया
दिखा दूँ यार मैं भी आशिक़ी को

ज़रा सा आसमाँ में उड़ना चाहा
चुभी परवाज़ मेरी हर किसी को

मिरी चाहत ने सबको दिल से चाहा
कुई समझा न मेरी सादगी को

निगाहें पढ़ने का मैं भी हूँ’ माहिर
समझ पाया न लेकिन आदमी को

कभी आकर ये देखो महफिलों में
कभी समझोगे तुम भी शायरी को

भुलाई हमने सबकी बेवफ़ाई
भुलादे यार अपनी बेखुदी को

मग़र जज़्बाती इतना तो बतादे
सभी रखते क्यों इस बेरुखी को
जज़्बाती

288 Views
You may also like:
गीत
शेख़ जाफ़र खान
"शौर्यम..दक्षम..युध्धेय, बलिदान परम धर्मा" अर्थात- बहादुरी वह है जो आपको...
Lohit Tamta
कुछ नहीं इंसान को
Dr fauzia Naseem shad
पिता - नीम की छाँव सा - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
शरद ऋतु ( प्रकृति चित्रण)
Vishnu Prasad 'panchotiya'
कभी ज़मीन कभी आसमान.....
अश्क चिरैयाकोटी
अधुरा सपना
Anamika Singh
सही-ग़लत का
Dr fauzia Naseem shad
बाबू जी
Anoop Sonsi
पिता
Mamta Rani
कशमकश
Anamika Singh
गर्मी का कहर
Ram Krishan Rastogi
✍️सूरज मुट्ठी में जखड़कर देखो✍️
'अशांत' शेखर
Nurse An Angel
Buddha Prakash
बिटिया होती है कोहिनूर
Anamika Singh
उतरते जेठ की तपन / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
गर्मी का रेखा-गणित / (समकालीन नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
जाने क्या-क्या ? / (गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
तपों की बारिश (समसामयिक नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
अनमोल राजू
Anamika Singh
पिता
Manisha Manjari
माँ तुम अनोखी हो
Anamika Singh
मैं तो सड़क हूँ,...
मनोज कर्ण
"सावन-संदेश"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
"आम की महिमा"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
वाक्य से पोथी पढ़
शेख़ जाफ़र खान
"वो पिता मेरे, मै बेटी उनकी"
रीतू सिंह
मुझे तुम भूल सकते हो
Dr fauzia Naseem shad
भोजपुरी के संवैधानिक दर्जा बदे सरकार से अपील
आकाश महेशपुरी
✍️इंतज़ार✍️
Vaishnavi Gupta
Loading...