Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Jul 2016 · 1 min read

मिटा ले यार दिल की तश्नगी को

मिटा ले यार दिल की तश्नगी को
जगा दिल में ज़रा आवारगी को

दिले जज़्बात ले के दिल हूँ आया
दिखा दूँ यार मैं भी आशिक़ी को

ज़रा सा आसमाँ में उड़ना चाहा
चुभी परवाज़ मेरी हर किसी को

मिरी चाहत ने सबको दिल से चाहा
कुई समझा न मेरी सादगी को

निगाहें पढ़ने का मैं भी हूँ’ माहिर
समझ पाया न लेकिन आदमी को

कभी आकर ये देखो महफिलों में
कभी समझोगे तुम भी शायरी को

भुलाई हमने सबकी बेवफ़ाई
भुलादे यार अपनी बेखुदी को

मग़र जज़्बाती इतना तो बतादे
सभी रखते क्यों इस बेरुखी को
जज़्बाती

345 Views
You may also like:
गीतः जिन्दगी बहती रही
Ravi Prakash
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
चुप कर पगली तुम्हें तो प्यार हुआ है
सुशील कुमार सिंह "प्रभात"
बस तुम ही तुम हो।
Taj Mohammad
✍️मुझे मेरी कमी रही✍️
'अशांत' शेखर
रहे इहाँ जब छोटकी रेल
आकाश महेशपुरी
सच यह गीत मैंने लिखा है
gurudeenverma198
* रौशनी उसकी *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
अंदाज़े मुहब्बत नया होगा
shabina. Naaz
मेरे जज्बात
Anamika Singh
कुंडलिया छंद
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
लोकदेवता :दिहबार
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
भोली बाला
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
अंतर्मन
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
✍️कैसी खुशनसीबी ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
अगर ज़रा भी हो इश्क मुझसे, मुझे नज़र से दिखा...
सत्य कुमार प्रेमी
घर का ठूठ2
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
हादसा जब कोई
Dr fauzia Naseem shad
नवगीत
Mahendra Narayan
गजानन
Seema gupta ( bloger) Gupta
अकेला चांद
Kaur Surinder
देखो-देखो आया सावन।
लक्ष्मी सिंह
मेहनत का फल
Buddha Prakash
श्वान प्रेम
Satish Srijan
जातिवाद का ज़हर
Shekhar Chandra Mitra
*** " पापा जी उन्हें भी कुछ समझाओ न...! "...
VEDANTA PATEL
अगर प्यार करते हो मुझको
Ram Krishan Rastogi
सृजन की तैयारी
Saraswati Bajpai
मुक्तक
Dr. Girish Chandra Agarwal
प्रेम रस रिमझिम बरस
श्री रमण 'श्रीपद्'
Loading...