Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Jan 2024 · 1 min read

माफ़ कर दे कका

माफ कर दे कका
——————–
कका गो कका,माफ कर दे कका
कका भतिजा के झगड़ा म मिलगे
दगा गो दगा,कका गो कका
माफ कर दे कका,कका गो कका

सोचे रहेव ,तोर जगा म मै बैठ जांहू

महादेव के जगा म, पार्वती के एप चलाहूं
शराब भट्ठी बंद करके,ठर्रा कम्पनीखोलवाहूं
तहूं तो मुक्की मारेहच, खदवन ल तारेहच।
कुर्सी के चक्कर में, परदेशिया ल बैठारेहच।।

का बतावव कका, मिलगे दगा गो दगा।
माफ कर दे कका,कका गो कका
हमर मालगुजारी शासन नि चलिस।
हमन ला ये आदिवासी मन अब
कुटेल कुटेल के मलिस,कका गो कका

तोर भतिजा
========

Language: Hindi
61 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कभी-कभी नींद बेवजह ही गायब होती है और हम वजह तलाश रहे होते ह
कभी-कभी नींद बेवजह ही गायब होती है और हम वजह तलाश रहे होते ह
पूर्वार्थ
💐अज्ञात के प्रति-68💐
💐अज्ञात के प्रति-68💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मुजरिम हैं राम
मुजरिम हैं राम
Shekhar Chandra Mitra
*परिचय*
*परिचय*
Pratibha Pandey
कुछ लोग तुम्हारे हैं यहाँ और कुछ लोग हमारे हैं /लवकुश यादव
कुछ लोग तुम्हारे हैं यहाँ और कुछ लोग हमारे हैं /लवकुश यादव "अज़ल"
लवकुश यादव "अज़ल"
सुविचार
सुविचार
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
चांद पर चंद्रयान, जय जय हिंदुस्तान
चांद पर चंद्रयान, जय जय हिंदुस्तान
Vinod Patel
*पहचान* – अहोभाग्य
*पहचान* – अहोभाग्य
DR ARUN KUMAR SHASTRI
चेहरे की शिकन देख कर लग रहा है तुम्हारी,,,
चेहरे की शिकन देख कर लग रहा है तुम्हारी,,,
शेखर सिंह
2755. *पूर्णिका*
2755. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
" क़ैद में ज़िन्दगी "
Chunnu Lal Gupta
हाँ, कल तक तू मेरा सपना थी
हाँ, कल तक तू मेरा सपना थी
gurudeenverma198
सच तो हम सभी होते हैं।
सच तो हम सभी होते हैं।
Neeraj Agarwal
सफलता के बीज बोने का सर्वोत्तम समय
सफलता के बीज बोने का सर्वोत्तम समय
Paras Nath Jha
कमबख़्त इश़्क
कमबख़्त इश़्क
Shyam Sundar Subramanian
अच्छा बोलने से अगर अच्छा होता,
अच्छा बोलने से अगर अच्छा होता,
Manoj Mahato
बच्चा सिर्फ बच्चा होता है
बच्चा सिर्फ बच्चा होता है
Dr. Pradeep Kumar Sharma
लाचार जन की हाय
लाचार जन की हाय
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
सावन आया झूम के .....!!!
सावन आया झूम के .....!!!
Kanchan Khanna
*कभी होती अमावस्या ,कभी पूनम कहाती है 【मुक्तक】*
*कभी होती अमावस्या ,कभी पूनम कहाती है 【मुक्तक】*
Ravi Prakash
गाँव बदलकर शहर हो रहा
गाँव बदलकर शहर हो रहा
रवि शंकर साह
Vishal Prajapati
Vishal Prajapati
Vishal Prajapati
हिन्दी
हिन्दी
Bodhisatva kastooriya
ये, जो बुरा वक्त आता है ना,
ये, जो बुरा वक्त आता है ना,
Sandeep Mishra
"तलाश"
Dr. Kishan tandon kranti
■ अवध की शाम
■ अवध की शाम
*Author प्रणय प्रभात*
प्रतिबद्ध मन
प्रतिबद्ध मन
लक्ष्मी सिंह
जीवन समर्पित करदो.!
जीवन समर्पित करदो.!
Prabhudayal Raniwal
ग़ज़ल
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
ज़िंदगी मौत,पर
ज़िंदगी मौत,पर
Dr fauzia Naseem shad
Loading...