Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Jul 2023 · 1 min read

महाराष्ट्र की राजनीति

मेरी कलम से…
आनन्द कुमार

हे “देवेन्द्र” ये क्या हो रहा है
“एकनाथ” क्यों शिकार है
“शिव” की “सेना” आज भी मज़बूत है
बीच डगर में “पवार” है
“महा” “राष्ट्र” के चक्कर में
राजनीति की पतवार है
दांव पर दांव लगते जा रहे हैं
आख़िर किसके “हाथ” सरकार है
बहुत संभल कर बहुत बच के रहना
अबकि बहुत गोल-माल है…

Language: Hindi
105 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बुंदेली दोहा प्रतियोगिता-143के दोहे
बुंदेली दोहा प्रतियोगिता-143के दोहे
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
समल चित् -समान है/प्रीतिरूपी मालिकी/ हिंद प्रीति-गान बन
समल चित् -समान है/प्रीतिरूपी मालिकी/ हिंद प्रीति-गान बन
Pt. Brajesh Kumar Nayak
!! नफरत सी है मुझे !!
!! नफरत सी है मुझे !!
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
"विचित्रे खलु संसारे नास्ति किञ्चिन्निरर्थकम् ।
Mukul Koushik
अज़ल से प्यार करना इतना आसान है क्या /लवकुश यादव
अज़ल से प्यार करना इतना आसान है क्या /लवकुश यादव "अज़ल"
लवकुश यादव "अज़ल"
निशानी
निशानी
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
शांति के लिए अगर अन्तिम विकल्प झुकना
शांति के लिए अगर अन्तिम विकल्प झुकना
Paras Nath Jha
[पुनर्जन्म एक ध्रुव सत्य] अध्याय- 5
[पुनर्जन्म एक ध्रुव सत्य] अध्याय- 5
Pravesh Shinde
"जून की शीतलता"
Dr Meenu Poonia
अर्थव्यवस्था और देश की हालात
अर्थव्यवस्था और देश की हालात
Mahender Singh Manu
Misconceptions are both negative and positive. It is just ne
Misconceptions are both negative and positive. It is just ne
सिद्धार्थ गोरखपुरी
भीख
भीख
Mukesh Kumar Sonkar
महर्षि बाल्मीकि
महर्षि बाल्मीकि
Ashutosh Singh
धर्म
धर्म
पंकज कुमार कर्ण
आधुनिक समाज (पञ्चचामर छन्द)
आधुनिक समाज (पञ्चचामर छन्द)
नाथ सोनांचली
2518.पूर्णिका
2518.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
पेड़ो की दुर्गति
पेड़ो की दुर्गति
मानक लाल मनु
तानाशाही सरकार
तानाशाही सरकार
Shekhar Chandra Mitra
कुछ भी होगा, ये प्यार नहीं है
कुछ भी होगा, ये प्यार नहीं है
Anil chobisa
■ सबसे ज़रूरी।
■ सबसे ज़रूरी।
*Author प्रणय प्रभात*
अतिथि देवो न भव
अतिथि देवो न भव
Satish Srijan
प्रभु के प्रति रहें कृतज्ञ
प्रभु के प्रति रहें कृतज्ञ
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
राम अवध के
राम अवध के
Sanjay ' शून्य'
एहसास दिला देगा
एहसास दिला देगा
Dr fauzia Naseem shad
"प्यार के दीप" गजल-संग्रह और उसके रचयिता ओंकार सिंह ओंकार
Ravi Prakash
चंद्रशेखर आज़ाद जी की पुण्यतिथि पर भावभीनी श्रद्धांजलि
चंद्रशेखर आज़ाद जी की पुण्यतिथि पर भावभीनी श्रद्धांजलि
Dr Archana Gupta
अनंत की ओर _ 1 of 25
अनंत की ओर _ 1 of 25
Kshma Urmila
चोट ना पहुँचे अधिक,  जो वाक़ि'आ हो
चोट ना पहुँचे अधिक, जो वाक़ि'आ हो
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
उन कचोटती यादों का क्या
उन कचोटती यादों का क्या
Atul "Krishn"
Loading...