Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Oct 2018 · 1 min read

हाथी के दांत

हाथी के दांत
————-
हिन्दी दिवस पर विधानसभा में व्याख्यान हेतु डॉ. राघवेंद्र जी को आमंत्रित किया गया था। वे दुनियाभर के विश्वविद्यालयों में गेस्ट लेक्चरर के रूप में व्याख्यान देते रहे हैं। उनकी व्याख्यान सुनकर लोग भावविभोर हो जाते हैं।
आज भी कुछ ऐसा ही हुआ। उनकी “हिन्दी की गौरवशाली अतीत और उज्ज्वल भविष्य की संभावनाएं” विषय पर आधारित व्याख्यान विधानसभा में उपस्थित सभी विधायक, अधिकारी, पत्रकार एवं अन्य आमंत्रित लोग मंत्रमुग्ध हो सुनने लगे।
अपनी पी-एच.डी. के लिए मैंने उनसे साक्षात्कार के लिए समय मांगा, तो उन्होंने शाम को 8 बजे राजकीय अतिथि गृह में बुला लिया।
नियत समय पर मैं वहाँ पहुँच गया।
औपचारिक अभिवादन के बाद उन्होंने कहा, “देखो ब्रदर, अच्छी क्वालिटी की इंटरव्यू लेना है तो पहले ही बता देता हूँ कि मैं दिल की बात अच्छे से अँग्रेजी में ही बोल सकता हूँ। हाँ, तुम मुझसे हिन्दी में क्वेश्चन कर सकते हो।”
“माफी चाहता हूँ महोदय, मैं अँग्रेजी नहीं जानता। इजाजत दीजिए मुझे। शुभ रात्रि।” मैं बिना समय गँवाए लौट आया।
——————————
डॉ. प्रदीप कुमार शर्मा
रायपुर, छत्तीसगढ़

2 Likes · 338 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
लगाये तुमको हम यह भोग,कुंवर वीर तेजाजी
लगाये तुमको हम यह भोग,कुंवर वीर तेजाजी
gurudeenverma198
*दिल का दर्द*
*दिल का दर्द*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
शिव स्तुति
शिव स्तुति
मनोज कर्ण
ऐसा कहा जाता है कि
ऐसा कहा जाता है कि
Naseeb Jinagal Koslia नसीब जीनागल कोसलिया
अपने हुए पराए लाखों जीवन का यही खेल है
अपने हुए पराए लाखों जीवन का यही खेल है
प्रेमदास वसु सुरेखा
3208.*पूर्णिका*
3208.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
जब भी दिल का
जब भी दिल का
Neelam Sharma
*फल*
*फल*
Dushyant Kumar
हिंदी का आनंद लीजिए __
हिंदी का आनंद लीजिए __
Manu Vashistha
आत्म अवलोकन कविता
आत्म अवलोकन कविता
कार्तिक नितिन शर्मा
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ
बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ
साहित्य गौरव
चाय के दो प्याले ,
चाय के दो प्याले ,
Shweta Soni
काश तुम्हारी तस्वीर भी हमसे बातें करती
काश तुम्हारी तस्वीर भी हमसे बातें करती
Dushyant Kumar Patel
मदहोशी के इन अड्डो को आज जलाने निकला हूं
मदहोशी के इन अड्डो को आज जलाने निकला हूं
कवि दीपक बवेजा
जीने का सलीका
जीने का सलीका
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
रिश्तों को नापेगा दुनिया का पैमाना
रिश्तों को नापेगा दुनिया का पैमाना
Anil chobisa
पाकर तुझको हम जिन्दगी का हर गम भुला बैठे है।
पाकर तुझको हम जिन्दगी का हर गम भुला बैठे है।
Taj Mohammad
"सपने"
Dr. Kishan tandon kranti
💐प्रेम कौतुक-322💐
💐प्रेम कौतुक-322💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Ab kya bataye ishq ki kahaniya aur muhabbat ke afsaane
Ab kya bataye ishq ki kahaniya aur muhabbat ke afsaane
गुप्तरत्न
“कवि की कविता”
“कवि की कविता”
DrLakshman Jha Parimal
'बेटी बचाओ-बेटी पढाओ'
'बेटी बचाओ-बेटी पढाओ'
Bodhisatva kastooriya
रक्षाबंधन
रक्षाबंधन
Sanjay ' शून्य'
माँ
माँ
Vijay kumar Pandey
* हर परिस्थिति को निजी अनुसार कर लो(हिंदी गजल/गीतिका)*
* हर परिस्थिति को निजी अनुसार कर लो(हिंदी गजल/गीतिका)*
Ravi Prakash
मिर्जा पंडित
मिर्जा पंडित
Harish Chandra Pande
जीवन डगर पहचान चलना वटोही
जीवन डगर पहचान चलना वटोही
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
चुना था हमने जिसे देश के विकास खातिर
चुना था हमने जिसे देश के विकास खातिर
Manoj Mahato
वीर बालिका
वीर बालिका
लक्ष्मी सिंह
#प्रतिनिधि_गीत_पंक्तियों के साथ हम दो वाणी-पुत्र
#प्रतिनिधि_गीत_पंक्तियों के साथ हम दो वाणी-पुत्र
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...