Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

मधुमालती छंद

#नमन_मंच
#विधा – मधुमालती छंद
***************************
?#प्रथम_प्रयास_सादर_समीक्षार्थ?
मेरा कहाँ अब नाम है।
मुझसे भला क्या काम है।।
तेरे लिए चलता रहा।
मैं गम लिए जलता रहा।।

नजदीकियां मिटने लगी।
अब दूरियां बढने लगी।।
तुम दूर मुझसे हो चले।
अब मै लगूं किसके गले।।

यह पीर मन को बेधती।
तन कुलिस से है छेदती।।
था प्रेम ही मैनै किया।
इस प्रीत ने है क्या दिया।।

ये दिल लगाना काल है।
मृत्यु का दूजा नाम है।।
अब वरण इसका जो करे।
बिन मौत ही अब वो मरे।।
—-स्वरचित, स्वप्रमाणित
✍️पं.संजीव शुक्ल “सचिन”
मुसहरवा (मंशानगर),पश्चिमी चम्पारण, बिहार

1 Like · 421 Views
You may also like:
पिता
पूनम झा 'प्रथमा'
✍️✍️कश्मकश✍️✍️
'अशांत' शेखर
निशां बाकी हैं।
Taj Mohammad
नफ़रतें करके क्या हुआ हासिल
Dr fauzia Naseem shad
थक चुकी हूं मैं
Shriyansh Gupta
राखी-बंँधवाई
श्री रमण 'श्रीपद्'
लौट आई जिंदगी बेटी बनकर!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
ओ जानें ज़ाना !
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
Tell the Birds.
Taj Mohammad
Life through the window during lockdown
ASHISH KUMAR SINGH
प्रिय डाक्टर साहब
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️एक तारा आसमाँ से टूटा था✍️
'अशांत' शेखर
एक पल में जीना सीख ले बंदे
Dr.sima
वो आवाज
Mahendra Rai
परिंदों से कह दो।
Taj Mohammad
तेरा चलना ओए ओए ओए
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
दरिया
Anamika Singh
बरसात
प्रकाश राम
जंग
shabina. Naaz
तिरंगा मन में कैसे फहराओगे ?
ओनिका सेतिया 'अनु '
नव भारत
पाण्डेय चिदानन्द
ए- अनूठा- हयात ईश्वरी देन
AMRESH KUMAR VERMA
क्या प्रात है !
Saraswati Bajpai
सुंदर बाग़
DESH RAJ
ऐ ज़िन्दगी तुझे
Dr fauzia Naseem shad
प्रश्न चिन्ह
Shyam Sundar Subramanian
अमृत महोत्सव
वीर कुमार जैन 'अकेला'
पहचान...
मनोज कर्ण
" जंगल की दुनिया "
Dr Meenu Poonia
धड़कनों की सदा।
Taj Mohammad
Loading...