Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Apr 2023 · 1 min read

मत सता गरीब को वो गरीबी पर रो देगा।

मत सता गरीब को वो गरीबी पर रो देगा।
मालिक ने सुन ली तो तू जड़ से खो देगा।।
© राजीव नामदेव ‘राना लिधौरी’, टीकमगढ़

2 Likes · 1 Comment · 846 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
View all
You may also like:
10) पूछा फूल से..
10) पूछा फूल से..
पूनम झा 'प्रथमा'
........?
........?
शेखर सिंह
प्रभु संग प्रीति
प्रभु संग प्रीति
Pratibha Pandey
ज़रा-सी बात चुभ जाये,  तो नाते टूट जाते हैं
ज़रा-सी बात चुभ जाये, तो नाते टूट जाते हैं
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
"ऐ इंसान"
Dr. Kishan tandon kranti
असर हुआ इसरार का,
असर हुआ इसरार का,
sushil sarna
चिड़िया!
चिड़िया!
सेजल गोस्वामी
आँखे नम हो जाती माँ,
आँखे नम हो जाती माँ,
Sushil Pandey
पिता पर एक गजल लिखने का प्रयास
पिता पर एक गजल लिखने का प्रयास
Ram Krishan Rastogi
ଅଦିନ ଝଡ
ଅଦିନ ଝଡ
Bidyadhar Mantry
(22) एक आंसू , एक हँसी !
(22) एक आंसू , एक हँसी !
Kishore Nigam
लोगों का मुहं बंद करवाने से अच्छा है
लोगों का मुहं बंद करवाने से अच्छा है
Yuvraj Singh
श्रम दिवस
श्रम दिवस
SATPAL CHAUHAN
बेटी की बिदाई ✍️✍️
बेटी की बिदाई ✍️✍️
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
■ शुभ धन-तेरस।।
■ शुभ धन-तेरस।।
*प्रणय प्रभात*
शृंगार छंद और विधाएँ
शृंगार छंद और विधाएँ
Subhash Singhai
*आवारा कुत्तों की समस्या: नगर पालिका रामपुर द्वारा आवेदन का
*आवारा कुत्तों की समस्या: नगर पालिका रामपुर द्वारा आवेदन का
Ravi Prakash
अंधकार जितना अधिक होगा प्रकाश का प्रभाव भी उसमें उतना गहरा औ
अंधकार जितना अधिक होगा प्रकाश का प्रभाव भी उसमें उतना गहरा औ
Rj Anand Prajapati
तेरी आमद में पूरी जिंदगी तवाफ करु ।
तेरी आमद में पूरी जिंदगी तवाफ करु ।
Phool gufran
एक अच्छे मुख्यमंत्री में क्या गुण होने चाहिए ?
एक अच्छे मुख्यमंत्री में क्या गुण होने चाहिए ?
Vandna thakur
अनुगामी
अनुगामी
Davina Amar Thakral
राजनीति के नशा में, मद्यपान की दशा में,
राजनीति के नशा में, मद्यपान की दशा में,
जगदीश शर्मा सहज
होठों पर मुस्कान,आँखों में नमी है।
होठों पर मुस्कान,आँखों में नमी है।
लक्ष्मी सिंह
आ मिल कर साथ चलते हैं....!
आ मिल कर साथ चलते हैं....!
VEDANTA PATEL
नदी किनारे
नदी किनारे
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
बची रहे संवेदना...
बची रहे संवेदना...
डॉ.सीमा अग्रवाल
कितना प्यार करता हू
कितना प्यार करता हू
Basant Bhagawan Roy
*वरद हस्त सिर पर धरो*..सरस्वती वंदना
*वरद हस्त सिर पर धरो*..सरस्वती वंदना
Poonam Matia
तु शिव,तु हे त्रिकालदर्शी
तु शिव,तु हे त्रिकालदर्शी
Swami Ganganiya
तुझसा कोई प्यारा नहीं
तुझसा कोई प्यारा नहीं
Mamta Rani
Loading...