Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Aug 2023 · 1 min read

-मंहगे हुए टमाटर जी

-मंहगे हुए टमाटर जी
सरल सस्ते टमाटरजी ने अपना तेवर यूं दिखलाया,
बढ़ा भाव स्वयं के छूं आसमान सबको है तरसाया।

सुनो -सुनो दोस्तों टमाटरों की अभी हाल वाली कहानी
जिसे खरीदतें अच्छों अच्छों को भी याद आ रही नानी।

लाल खट्टा जायके वाला टमाटर जिसकी दुनिया दिवानी
रसोई की शान टमाटर बिना बेस्वाद लग रही पाकवानी,

सस्ते हो जाएं टमाटर ,गरीब-अमीर सोचे कब होगी मेहरबानी
गिने-चुने लाऊं टमाटर,काश ! कर लेती मैं भी इसकी बागबानी।

तेरे बिन सूप,सलाद,तरकारी और चटनी सबकी बात बिगाड़ी
नज़र न आएं उसमें टमाटर कैसे स्वादिष्ट बनाएं भाजी बिरयानी।

नाक सिकोड़ कर खाते बच्चें कहतें मां!कब होगे टमाटर सस्ते
कुछ तो ऐसा हो मोदी जी फिर कहे दिल कि दिन आ गए अच्छे।
-सीमा गुप्ता,अलवर राजस्थान

1 Like · 891 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
वो इबादत
वो इबादत
Dr fauzia Naseem shad
बलिदान
बलिदान
लक्ष्मी सिंह
मेरी कलम से…
मेरी कलम से…
Anand Kumar
दोपहर जल रही है सड़कों पर
दोपहर जल रही है सड़कों पर
Shweta Soni
अच्छे   बल्लेबाज  हैं,  गेंदबाज   दमदार।
अच्छे बल्लेबाज हैं, गेंदबाज दमदार।
दुष्यन्त 'बाबा'
चुनाव फिर आने वाला है।
चुनाव फिर आने वाला है।
नेताम आर सी
घर से बेघर
घर से बेघर
Punam Pande
मुझ को किसी एक विषय में मत बांधिए
मुझ को किसी एक विषय में मत बांधिए
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
लें दे कर इंतज़ार रह गया
लें दे कर इंतज़ार रह गया
Manoj Mahato
संतोष
संतोष
Manju Singh
-- धरती फटेगी जरूर --
-- धरती फटेगी जरूर --
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
इंसान VS महान
इंसान VS महान
Dr MusafiR BaithA
संभावना है जीवन, संभावना बड़ी है
संभावना है जीवन, संभावना बड़ी है
Suryakant Dwivedi
*रंगों का ज्ञान*
*रंगों का ज्ञान*
Dushyant Kumar
नहीं तेरे साथ में कोई तो क्या हुआ
नहीं तेरे साथ में कोई तो क्या हुआ
gurudeenverma198
जय जगदम्बे जय माँ काली
जय जगदम्बे जय माँ काली
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
■नाम परिवर्तन■
■नाम परिवर्तन■
*Author प्रणय प्रभात*
प्रेम भरी नफरत
प्रेम भरी नफरत
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
क्यूँ ना करूँ शुक्र खुदा का
क्यूँ ना करूँ शुक्र खुदा का
shabina. Naaz
जिस कदर उम्र का आना जाना है
जिस कदर उम्र का आना जाना है
Harminder Kaur
जानते वो भी हैं...!!
जानते वो भी हैं...!!
Kanchan Khanna
"कभी मेरा ज़िक्र छीड़े"
Lohit Tamta
बेगुनाही एक गुनाह
बेगुनाही एक गुनाह
Shekhar Chandra Mitra
हिन्दी दोहा बिषय- सत्य
हिन्दी दोहा बिषय- सत्य
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मैं तो महज शमशान हूँ
मैं तो महज शमशान हूँ
VINOD CHAUHAN
*तुम्हारी पारखी नजरें (5 शेर )*
*तुम्हारी पारखी नजरें (5 शेर )*
Ravi Prakash
प्रभु शरण
प्रभु शरण
चक्षिमा भारद्वाज"खुशी"
* हो जाता ओझल *
* हो जाता ओझल *
surenderpal vaidya
सत्य तत्व है जीवन का खोज
सत्य तत्व है जीवन का खोज
Buddha Prakash
भारत के बीर सपूत
भारत के बीर सपूत
Dinesh Kumar Gangwar
Loading...