Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Sep 2016 · 1 min read

बड़ी मग़रूर किस्मत हो गई है

हमें जबसे मुहब्बत हो गई है
मुहब्बत भी सियासत हो गई है

चलो फिर इश्क़ में खाते हैं धोखा
हमें तो इसकी आदत हो गई है

गया चैनो सुक़ूँ यानी के सब कुछ
कहें भी क्या के उल्फ़त हो गई है

जिए जाते हैं फिर भी देखिए हम
गो बेग़ैरत सी ग़ैरत हो गई है

फ़क़त हमसे है पर्दा क्या समझ लूँ
किसी की हमपे नीयत हो गई है

तेरे जाने से उजड़े घोसले सी
हमारे दिल की हालत हो गई है

दुहाई बारहा देने से ग़ाफ़िल
बड़ी मग़रूर किस्मत हो गई है

-‘ग़ाफ़िल’

191 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कुछ उत्तम विचार.............
कुछ उत्तम विचार.............
विमला महरिया मौज
महायज्ञ।
महायज्ञ।
Acharya Rama Nand Mandal
◆कुटिल नीति◆
◆कुटिल नीति◆
*Author प्रणय प्रभात*
यहा हर इंसान दो चहरे लिए होता है,
यहा हर इंसान दो चहरे लिए होता है,
Happy sunshine Soni
ग़ज़ल सगीर
ग़ज़ल सगीर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
किसी तरह मां ने उसको नज़र से बचा लिया।
किसी तरह मां ने उसको नज़र से बचा लिया।
Phool gufran
आसमान को उड़ने चले,
आसमान को उड़ने चले,
Buddha Prakash
माँ की यादें
माँ की यादें
मनोज कर्ण
माँ महान है
माँ महान है
Dr. Man Mohan Krishna
सत्यबोध
सत्यबोध
Bodhisatva kastooriya
अनंत का आलिंगन
अनंत का आलिंगन
Dr.Pratibha Prakash
रात है यह काली
रात है यह काली
जगदीश लववंशी
सम पर रहना
सम पर रहना
Punam Pande
💐अज्ञात के प्रति-129💐
💐अज्ञात के प्रति-129💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पकौड़े चाय ही बेचा करो अच्छा है जी।
पकौड़े चाय ही बेचा करो अच्छा है जी।
सत्य कुमार प्रेमी
तुम किसके लिए हो?
तुम किसके लिए हो?
Shekhar Chandra Mitra
हमारी जिंदगी भरना, सदा माँ शुभ विचारों से (गीत)
हमारी जिंदगी भरना, सदा माँ शुभ विचारों से (गीत)
Ravi Prakash
सुरक्षा कवच
सुरक्षा कवच
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ज्ञानी मारे ज्ञान से अंग अंग भीग जाए ।
ज्ञानी मारे ज्ञान से अंग अंग भीग जाए ।
Krishna Kumar ANANT
खास हम नहीं मिलते तो
खास हम नहीं मिलते तो
gurudeenverma198
"कुछ अधूरे सपने"
MSW Sunil SainiCENA
कैसे गीत गाएं मल्हार
कैसे गीत गाएं मल्हार
Nanki Patre
कुछ पल साथ में आओ हम तुम बिता लें
कुछ पल साथ में आओ हम तुम बिता लें
Pramila sultan
अब खयाल कहाँ के खयाल किसका है
अब खयाल कहाँ के खयाल किसका है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
वक्त एक हकीकत
वक्त एक हकीकत
umesh mehra
अलगौझा
अलगौझा
भवानी सिंह धानका "भूधर"
23/05.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
23/05.छत्तीसगढ़ी पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मृत्यु शैय्या
मृत्यु शैय्या
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
"कब तक हम मौन रहेंगे "
DrLakshman Jha Parimal
कभी-कभी नींद बेवजह ही गायब होती है और हम वजह तलाश रहे होते ह
कभी-कभी नींद बेवजह ही गायब होती है और हम वजह तलाश रहे होते ह
पूर्वार्थ
Loading...