Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Aug 2023 · 1 min read

बैठी रहो कुछ देर और

बैठी रहो कुछ देर और, प्यार तुमसे जी भर कर लूँ ।
लेकर बाँहों में तुमको, चाहत दिल की पूरी कर लूँ।।
बैठी रहो कुछ देर और—————-।।

हाथों से चिलमन बनाकर, चेहरा मुझसे मत छुपाओ।
नजरें तुम मुझसे मिलाकर, अपने लबों को करीब लाओ।।
सहलाने दो जुल्फें और गाल,अपने अंग जीभर मैं भर लूँ।
बैठी रहो कुछ देर और————–।।

अच्छा लग रहा है मुझे, मुझसे तुम्हारा यह शर्माना।
चांद सा यह चेहरा तुम्हारा, रोशन है देखो यह कितना।।
गौरे तुम्हारे इस बदन से, चाहत मैं तन की पूरी कर लूँ।
बैठी रहो कुछ देर और ——————–।।

उम्रभर का रिश्ता है अपना, बन्धन कभी यह टूटे नहीं।
कैसी भी हो चाहे मुसीबत, एक दूजे से हम रूठे नहीं।।
तुम हो मेरे दिल की धङकन, ख्वाब हसीन मैं पूरा कर लूँ।
बैठी रहो कुछ देर और ———————–।।

शिक्षक एवं साहित्यकार-
गुरुदीन वर्मा उर्फ जी.आज़ाद
तहसील एवं जिला- बारां(राजस्थान)

Language: Hindi
Tag: गीत
284 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
वक्त आने पर सबको दूंगा जवाब जरूर क्योंकि हर एक के ताने मैंने
वक्त आने पर सबको दूंगा जवाब जरूर क्योंकि हर एक के ताने मैंने
Ranjeet kumar patre
आप हो
आप हो
Dr.Pratibha Prakash
🧑‍🎓My life simple life🧑‍⚖️
🧑‍🎓My life simple life🧑‍⚖️
Ms.Ankit Halke jha
बड़ा भोला बड़ा सज्जन हूँ दीवाना मगर ऐसा
बड़ा भोला बड़ा सज्जन हूँ दीवाना मगर ऐसा
आर.एस. 'प्रीतम'
खुशी पाने का जरिया दौलत हो नहीं सकता
खुशी पाने का जरिया दौलत हो नहीं सकता
नूरफातिमा खातून नूरी
महिला दिवस पर एक व्यंग
महिला दिवस पर एक व्यंग
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
🌹 मैं सो नहीं पाया🌹
🌹 मैं सो नहीं पाया🌹
सुरेश अजगल्ले 'इन्द्र '
दोगला चेहरा
दोगला चेहरा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
ईश्वर का
ईश्वर का "ह्यूमर" - "श्मशान वैराग्य"
Atul "Krishn"
अजनबी !!!
अजनबी !!!
Shaily
*वीरस्य भूषणम् *
*वीरस्य भूषणम् *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पाश्चात्यता की होड़
पाश्चात्यता की होड़
Mukesh Kumar Sonkar
अनचाहे अपराध व प्रायश्चित
अनचाहे अपराध व प्रायश्चित
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
वहाँ से पानी की एक बूँद भी न निकली,
वहाँ से पानी की एक बूँद भी न निकली,
शेखर सिंह
कर मुसाफिर सफर तू अपने जिंदगी  का,
कर मुसाफिर सफर तू अपने जिंदगी का,
Yogendra Chaturwedi
मित्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
मित्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Dr Archana Gupta
*पल में बारिश हो रही, पल में खिलती धूप (कुंडलिया)*
*पल में बारिश हो रही, पल में खिलती धूप (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
💐प्रेम कौतुक-278💐
💐प्रेम कौतुक-278💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सबसे प्यारा सबसे न्यारा मेरा हिंदुस्तान
सबसे प्यारा सबसे न्यारा मेरा हिंदुस्तान
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
देश के दुश्मन सिर्फ बॉर्डर पर ही नहीं साहब,
देश के दुश्मन सिर्फ बॉर्डर पर ही नहीं साहब,
राजेश बन्छोर
पेड़
पेड़
Kanchan Khanna
पिता संघर्ष की मूरत
पिता संघर्ष की मूरत
Rajni kapoor
23/141.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/141.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
चरित्रार्थ होगा काल जब, निःशब्द रह तू जायेगा।
चरित्रार्थ होगा काल जब, निःशब्द रह तू जायेगा।
Manisha Manjari
■ आज का दोहा
■ आज का दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
यादों पर एक नज्म लिखेंगें
यादों पर एक नज्म लिखेंगें
Shweta Soni
"कबड्डी"
Dr. Kishan tandon kranti
तुलना से इंकार करना
तुलना से इंकार करना
Dr fauzia Naseem shad
की हरी नाम में सब कुछ समाया ,ओ बंदे तो बाहर क्या देखने गया,
की हरी नाम में सब कुछ समाया ,ओ बंदे तो बाहर क्या देखने गया,
Vandna thakur
अभिमान
अभिमान
Neeraj Agarwal
Loading...