Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
5 Feb 2023 · 1 min read

बेटों की बात

बेटों की बातें
———–
चलो आज बेटों
पर लिखते हैं
उनके कमरे को
देखते हैं…..

सुना है…..
आवारा है
निखट्टू है
पढ़ता नहीं
बस, खेलता है
हां, कभी कभी
किताबों में झांकता है।।

हां, उसकी अलग
दुनिया है…
ढूंढने बैठो तो
कमियां ही कमियां हैं।

घर में बिटिया भी है…
कितनी पास…
सबकी लाडली
देखना….एक दिन…
यही नाम रोशन करेगी..
भाई सुनता और सो जाता
किताबों के बीच
अपने सपनों के बीच..

लिंग भेद को हम घरों
तक ले आए….
एक कोख से जन्मे बच्चे
लक्ष्मण रेखा लांघ आए।

किताबों में सिर
लैपटाप सामने
कश्मकश भरी जिंदगी
दुलार/ पुचकार/ उलाहने
आशाएं/ संभावनाएं
करियर की चिंताएं
सब कुछ सीने पर
एक जलता दीपक…
दिवाली की तलाश।।

दुर्भाग्य…!!!
मैं किसी शहर/ प्रदेश
का बेटा क्यों नहीं..?
खबरों/नजरों में….
एक कोने में होता है बेटा
छायी रहती हैं बेटियां…

बेटा, एक कोने में
प्रेमचंद/ दिनकर/ निराला
को ढूंढता है…..
अपने से ही पूछता है…
वो भी बेटे थे
मैं भी बेटा हूं।।
वो पुरस्कृत तो
मैं तिरस्कृत क्यों ??
क्या बेटा होना
गुनाह है या फिर
हमारी सोच का
इम्तहां है।।
मैं भी बेटा हूं
मुझे भी प्यार चाहिए।।

-सूर्यकांत

Language: Hindi
114 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Suryakant Dwivedi
View all
You may also like:
*बहू- बेटी- तलाक*
*बहू- बेटी- तलाक*
Radhakishan R. Mundhra
प्यार के मायने बदल गयें हैं
प्यार के मायने बदल गयें हैं
SHAMA PARVEEN
चाहते नहीं अब जिंदगी को, करना दुःखी नहीं हरगिज
चाहते नहीं अब जिंदगी को, करना दुःखी नहीं हरगिज
gurudeenverma198
शादीशुदा🤵👇
शादीशुदा🤵👇
डॉ० रोहित कौशिक
धन, दौलत, यशगान में, समझा जिसे अमीर।
धन, दौलत, यशगान में, समझा जिसे अमीर।
Suryakant Dwivedi
"अन्दर ही अन्दर"
Dr. Kishan tandon kranti
किसी को उदास पाकर
किसी को उदास पाकर
Shekhar Chandra Mitra
देता है अच्छा सबक़,
देता है अच्छा सबक़,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हमें भी जिंदगी में रंग भरने का जुनून था
हमें भी जिंदगी में रंग भरने का जुनून था
VINOD CHAUHAN
दिल में
दिल में
Dr fauzia Naseem shad
गृहणी का बुद्ध
गृहणी का बुद्ध
पूनम कुमारी (आगाज ए दिल)
3643.💐 *पूर्णिका* 💐
3643.💐 *पूर्णिका* 💐
Dr.Khedu Bharti
सही ट्रैक क्या है ?
सही ट्रैक क्या है ?
Sunil Maheshwari
की तरह
की तरह
Neelam Sharma
// पिता एक महान नायक //
// पिता एक महान नायक //
Surya Barman
सागर ने भी नदी को बुलाया
सागर ने भी नदी को बुलाया
Anil Mishra Prahari
'बेटी बचाओ-बेटी पढाओ'
'बेटी बचाओ-बेटी पढाओ'
Bodhisatva kastooriya
😢बताए सरकार😢
😢बताए सरकार😢
*प्रणय प्रभात*
" हो सके तो किसी के दामन पर दाग न लगाना ;
डॉ कुलदीपसिंह सिसोदिया कुंदन
एकाकीपन
एकाकीपन
लक्ष्मी सिंह
You never know when the prolixity of destiny can twirl your
You never know when the prolixity of destiny can twirl your
Chahat
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
आँसू छलके आँख से,
आँसू छलके आँख से,
sushil sarna
बहर-ए-ज़मज़मा मुतदारिक मुसद्दस मुज़ाफ़
बहर-ए-ज़मज़मा मुतदारिक मुसद्दस मुज़ाफ़
sushil yadav
तो क्या हुआ
तो क्या हुआ
Sûrëkhâ
चाँद
चाँद
TARAN VERMA
मंजिल की तलाश में
मंजिल की तलाश में
Praveen Sain
तुम्हीं रस्ता तुम्हीं मंज़िल
तुम्हीं रस्ता तुम्हीं मंज़िल
Monika Arora
कहीं दूर चले आए हैं घर से
कहीं दूर चले आए हैं घर से
पूर्वार्थ
दिल लगाया है जहाॅं दिमाग न लगाया कर
दिल लगाया है जहाॅं दिमाग न लगाया कर
Manoj Mahato
Loading...