Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 May 2018 · 1 min read

बेटियों को पढ़ाओ

बेटियों को पढाओ

बेटियों को पढ़ने का मौका दे दो,
सुनहरी बगियाँ को एक कलम स्याही का पौधा दे दो।।

छोटा सा बस्ता और ज्ञान गंगा दे दो,
बेटियों को अपनी स्कूलों में दाखिला दे दो।।।।।।

घर और चूल्हें को बाजू में रख दो,
बेटियों को आसमाँ में उड़ने का अवसर दे दो।।।

बेटियां रखतीं है हरदम माता पिता का ख़्याल,
इनके चेहरे पर एक हसीं गुलाब दे दो।।।।।

नही आज की दुनिया मे बेटियां किसी से कम,
उनको भी अपने विश्वास का आशीष दे दो।।।।

कोख़ में मारकर बेटियों को ऐसा घिनोना पाप न करो,
उनकों भी अपने हिस्से की जिंदगी जीने को दे दो।।।

रचनाकार
गायत्री सोनू जैन

Language: Hindi
233 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
जय श्री राम।
जय श्री राम।
Anil Mishra Prahari
एहसास
एहसास
Er.Navaneet R Shandily
हे दामन में दाग जिनके
हे दामन में दाग जिनके
Swami Ganganiya
सतरंगी इंद्रधनुष
सतरंगी इंद्रधनुष
Neeraj Agarwal
तुम्हारे दीदार की तमन्ना
तुम्हारे दीदार की तमन्ना
Anis Shah
देख लेते
देख लेते
Dr fauzia Naseem shad
🌹🙏प्रेमी प्रेमिकाओं के लिए समर्पित🙏 🌹
🌹🙏प्रेमी प्रेमिकाओं के लिए समर्पित🙏 🌹
कृष्णकांत गुर्जर
यदि आप नंगे है ,
यदि आप नंगे है ,
शेखर सिंह
उदास हो गयी धूप ......
उदास हो गयी धूप ......
sushil sarna
मेरे हिस्से सब कम आता है
मेरे हिस्से सब कम आता है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
"प्यार तुमसे करते हैं "
Pushpraj Anant
चाहे किसी के साथ रहे तू , फिर भी मेरी याद आयेगी
चाहे किसी के साथ रहे तू , फिर भी मेरी याद आयेगी
gurudeenverma198
जब निहत्था हुआ कर्ण
जब निहत्था हुआ कर्ण
Paras Nath Jha
এটি একটি সত্য
এটি একটি সত্য
Otteri Selvakumar
मां ने भेज है मामा के लिए प्यार भरा तोहफ़ा 🥰🥰🥰 �
मां ने भेज है मामा के लिए प्यार भरा तोहफ़ा 🥰🥰🥰 �
Swara Kumari arya
रेत पर
रेत पर
Shweta Soni
आखिर कब तक?
आखिर कब तक?
Pratibha Pandey
वाह वाह....मिल गई
वाह वाह....मिल गई
Suryakant Dwivedi
राम ने कहा
राम ने कहा
Shashi Mahajan
सिर्फ़ सवालों तक ही
सिर्फ़ सवालों तक ही
पूर्वार्थ
"धीरे-धीरे"
Dr. Kishan tandon kranti
आधुनिक भारत के कारीगर
आधुनिक भारत के कारीगर
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
उपासक लक्ष्मी पंचमी के दिन माता का उपवास कर उनका प्रिय पुष्प
उपासक लक्ष्मी पंचमी के दिन माता का उपवास कर उनका प्रिय पुष्प
Shashi kala vyas
*
*"ममता"* पार्ट-3
Radhakishan R. Mundhra
सुधार आगे के लिए परिवेश
सुधार आगे के लिए परिवेश
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
मैं नारी हूं...!
मैं नारी हूं...!
singh kunwar sarvendra vikram
उम्र के हर एक पड़ाव की तस्वीर क़ैद कर लेना
उम्र के हर एक पड़ाव की तस्वीर क़ैद कर लेना
'अशांत' शेखर
#लघुकथा :--
#लघुकथा :--
*प्रणय प्रभात*
हनुमान वंदना । अंजनी सुत प्रभु, आप तो विशिष्ट हो।
हनुमान वंदना । अंजनी सुत प्रभु, आप तो विशिष्ट हो।
Kuldeep mishra (KD)
जन्माष्टमी
जन्माष्टमी
लक्ष्मी सिंह
Loading...