Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
6 Jan 2023 · 1 min read

बेटियां

मां तेरे गर्भ का मलवा नहीं हूं मैं,
जाने क्यूं मिटाने पर तुले हो। दो चार बूंद भर क्षीर की प्यास मेरी,
उसे भी बचाने पर तुले हो।। मां तेरे गर्भ का………………..,
तुझे भी जना होगा जननी ने,।
उनको क्यूं डुबाने पर तुले हो। आ ही गई घर तुम्हारा क्या बिगरेगा,
नवसृजन के आघात पर तुले हो।।
मां तेरे गर्भ का…………………..,।
कूल की मान मर्यादा सलामत रहेगी,
मुझ पे एतबार तो कर।
कोपल हूं जीस सिरजन हार का,
उनका सम्मान तो कर।। मां तेरे गर्भ का…………………….,
गर हूं मैं सूत्र तो सूत्राधार कौन ?
जाने क्यूं बुझाने पर तुले हो।
चार निवाले का ही शर्त रहा गर,
मुझे ही क्यूं मिटाने पर तुले हो।।
मां तेरे गर्भ का…………………….,। अजीब अजाब तेरे अदा में दिखती है,
अंसार बेशर्म से हुए है।
अरे अब हमें मार ही दोगे ना!
क्या ख़ाक करने पर तुले हो।।
मां तेरे गर्भ का…. ………………..,।
स्वरचित:-सुशील कुमार सिंह “प्रभात”

Language: Hindi
2 Likes · 280 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
हिन्दू जागरण गीत
हिन्दू जागरण गीत
मनोज कर्ण
प्रेम और आदर
प्रेम और आदर
ओंकार मिश्र
जिंदगी जीना है तो खुशी से जीयों और जीभर के जीयों क्योंकि एक
जिंदगी जीना है तो खुशी से जीयों और जीभर के जीयों क्योंकि एक
जय लगन कुमार हैप्पी
स्वच्छंद प्रेम
स्वच्छंद प्रेम
Dr Parveen Thakur
ख्वाब नाज़ुक हैं
ख्वाब नाज़ुक हैं
rkchaudhary2012
*महाराज श्री अग्रसेन को, सौ-सौ बार प्रणाम है  【गीत】*
*महाराज श्री अग्रसेन को, सौ-सौ बार प्रणाम है 【गीत】*
Ravi Prakash
" कुछ काम करो "
DrLakshman Jha Parimal
💐प्रेम कौतुक-530💐
💐प्रेम कौतुक-530💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
■ लिख कर रख लो। 👍
■ लिख कर रख लो। 👍
*Author प्रणय प्रभात*
अजी सुनते हो मेरे फ्रिज में टमाटर भी है !
अजी सुनते हो मेरे फ्रिज में टमाटर भी है !
Anand Kumar
!! पुलिस अर्थात रक्षक !!
!! पुलिस अर्थात रक्षक !!
Akash Yadav
" मैं तन्हा हूँ "
Aarti sirsat
*मन  में  पर्वत  सी पीर है*
*मन में पर्वत सी पीर है*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
वक्त सा गुजर गया है।
वक्त सा गुजर गया है।
Taj Mohammad
जिसने अपने जीवन में दर्द नहीं झेले उसने अपने जीवन में सुख भी
जिसने अपने जीवन में दर्द नहीं झेले उसने अपने जीवन में सुख भी
Rj Anand Prajapati
*बेचारे नेता*
*बेचारे नेता*
दुष्यन्त 'बाबा'
आप और हम जीवन के सच
आप और हम जीवन के सच
Neeraj Agarwal
गम के आगे ही खुशी है ये खुशी कहने लगी।
गम के आगे ही खुशी है ये खुशी कहने लगी।
सत्य कुमार प्रेमी
" है वही सुरमा इस जग में ।
Shubham Pandey (S P)
कावड़ियों की धूम है,
कावड़ियों की धूम है,
manjula chauhan
बगिया* का पेड़ और भिखारिन बुढ़िया / MUSAFIR BAITHA
बगिया* का पेड़ और भिखारिन बुढ़िया / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
पर्यावरण में मचती ये हलचल
पर्यावरण में मचती ये हलचल
Buddha Prakash
God is Almighty
God is Almighty
DR ARUN KUMAR SHASTRI
आचार्य शुक्ल की कविता सम्बन्धी मान्यताएं
आचार्य शुक्ल की कविता सम्बन्धी मान्यताएं
कवि रमेशराज
मुझसे जुदा होने से पहले, लौटा दे मेरा प्यार वह मुझको
मुझसे जुदा होने से पहले, लौटा दे मेरा प्यार वह मुझको
gurudeenverma198
उसने कहा....!!
उसने कहा....!!
Kanchan Khanna
अच्छे दामों बिक रहे,
अच्छे दामों बिक रहे,
sushil sarna
अचानक जब कभी मुझको हाँ तेरी याद आती है
अचानक जब कभी मुझको हाँ तेरी याद आती है
Johnny Ahmed 'क़ैस'
"यदि"
Dr. Kishan tandon kranti
Li Be B
Li Be B
Ankita Patel
Loading...