Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Oct 2016 · 1 min read

बूढी दिवाली

इक दूजे से पूछे दो बूढी नजरे सवाली
आयेगा बेटा क्या ,चंद रोज मे है दिवाली

आऊंगा इस दफा हर बार यही कह देता है
यही कहकर हर दफा बात उसने टाली

कई बरसो से मुंडेर पर रोशनी नही हुई है
होगा अबकी बार क्यारोशन,घर का आंगन खाली

तेरी पसन्द की सारी चीजे मां हर बार बना लेती है
क्या नही जलेगी इस बार भी सगुन की पांच दियाली

हम तेरी राह तकते है
लक्ष्मी से ज्यादा तेरी उम्मीद करते है
आंखो के अश्रु मे आशा की लौ जला डाली

इन बूढी आंखो को चमक मिले इस बार
आजाओ बेटा इस बरस हम भी मना ले दिवाली

कुछ बूढी आंखो के इन्तजार का त्योहार है दिवाली

Language: Hindi
1 Like · 2 Comments · 403 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बाढ़ और इंसान।
बाढ़ और इंसान।
Buddha Prakash
जिंदगी की खोज
जिंदगी की खोज
CA Amit Kumar
आज का चिंतन
आज का चिंतन
निशांत 'शीलराज'
सद्विचार
सद्विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
गया दौरे-जवानी गया गया तो गया
गया दौरे-जवानी गया गया तो गया
shabina. Naaz
🙏🏻 अभी मैं बच्चा हूं🙏🏻
🙏🏻 अभी मैं बच्चा हूं🙏🏻
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
अनजान लड़का
अनजान लड़का
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
23/63.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/63.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
"अकेडमी वाला इश्क़"
Lohit Tamta
Who is the boss
Who is the boss
AJAY AMITABH SUMAN
दोहा
दोहा
दुष्यन्त 'बाबा'
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
नारी
नारी
Bodhisatva kastooriya
"सपनों का सफर"
Pushpraj Anant
💐प्रेम कौतुक-333💐
💐प्रेम कौतुक-333💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मार्केटिंग फंडा
मार्केटिंग फंडा
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मिलना तो होगा नही अब ताउम्र
मिलना तो होगा नही अब ताउम्र
Dr Manju Saini
शक्कर में ही घोलिए,
शक्कर में ही घोलिए,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कविता: मेरी अभिलाषा- उपवन बनना चाहता हूं।
कविता: मेरी अभिलाषा- उपवन बनना चाहता हूं।
Rajesh Kumar Arjun
यह प्यार झूठा है
यह प्यार झूठा है
gurudeenverma198
गुजरे हुए वक्त की स्याही से
गुजरे हुए वक्त की स्याही से
Karishma Shah
अंतर्जाल यात्रा
अंतर्जाल यात्रा
Dr. Sunita Singh
Miracles in life are done by those who had no other
Miracles in life are done by those who had no other "options
Nupur Pathak
*रेल हादसा*
*रेल हादसा*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बारिश की संध्या
बारिश की संध्या
महेश चन्द्र त्रिपाठी
सागर में अनगिनत प्यार की छटाएं है
सागर में अनगिनत प्यार की छटाएं है
'अशांत' शेखर
तुम्हारे हमारे एहसासात की है
तुम्हारे हमारे एहसासात की है
Dr fauzia Naseem shad
जिंदगी मुझसे हिसाब मांगती है ,
जिंदगी मुझसे हिसाब मांगती है ,
Shyam Sundar Subramanian
ख्वाबो में मेरे इस तरह आया न करो
ख्वाबो में मेरे इस तरह आया न करो
Ram Krishan Rastogi
■ जिजीविषा : जीवन की दिशा।
■ जिजीविषा : जीवन की दिशा।
*Author प्रणय प्रभात*
Loading...