Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 May 2023 · 1 min read

बुद्ध या विनाश

हथियारों से
पटी हुई यह
युद्धों की दुनिया
मिट जाएगी
बनी नहीं जो
बुद्धों की दुनिया…
(1)
पागलपन की
होड़ मची है
कैसी अंधी
दौड़ लगी है
सड़े-गले पर
आंख गड़ाए
गिद्धों की दुनिया
मिट जाएगी
बनी नहीं जो
बुद्धों की दुनिया…
(2)
सारे लोग हैं
भांग चढ़ाए
कौन किसको
राह दिखाए
मूर्खों के सिर
पर चढ़ी हुई
धूर्तों की दुनिया
मिट जाएगी
बनी नहीं जो
बुद्धों की दुनिया…
(3)
सत्ता और पूंजी के
मेल से
सदियों से जारी है
खेल ये
धर्मों का धंधा
करते हुए
लुच्चों की दुनिया
मिट जाएगी
बनी नहीं जो
बुद्धों की दुनिया….
(४)
बुद्धं शरणं गच्छामि
धम्मं शरणं गच्छामि
संघं शरणं गच्छामि
अप्प दीपो भव…
#Geetkar
Shekhar Chandra Mitra
#युद्धयाबुद्ध #lyricist #bollywood
#YuddhaOrBuddha #इंकलाबी
#Buddhism #lyrics #shayari
#NoWarPlease #peaceful
#ओशोविजन #बगावत #क्रांतिकारी
#AntiWarPoetry #mercy #love

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Like · 226 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
मजदूर दिवस पर एक रचना
मजदूर दिवस पर एक रचना
sushil sarna
ढूॅ॑ढा बहुत हमने तो पर भगवान खो गए
ढूॅ॑ढा बहुत हमने तो पर भगवान खो गए
VINOD CHAUHAN
2273.
2273.
Dr.Khedu Bharti
मैं हूं न ....@
मैं हूं न ....@
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
Jay prakash dewangan
Jay prakash dewangan
Jay Dewangan
#देख_लिया
#देख_लिया
*Author प्रणय प्रभात*
प्रेम
प्रेम
Sushmita Singh
*नारी तुम गृह स्वामिनी, तुम जीवन-आधार (कुंडलिया)*
*नारी तुम गृह स्वामिनी, तुम जीवन-आधार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
"आज के दौर में"
Dr. Kishan tandon kranti
प्रेरणा - एक विचार
प्रेरणा - एक विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
कुछ परिंदें।
कुछ परिंदें।
Taj Mohammad
निदा फाज़ली का एक शेर है
निदा फाज़ली का एक शेर है
Sonu sugandh
शहर के लोग
शहर के लोग
Madhuyanka Raj
Next
Next
Rajan Sharma
मरने के बाद भी ठगे जाते हैं साफ दामन वाले
मरने के बाद भी ठगे जाते हैं साफ दामन वाले
Sandeep Kumar
तुम बदल जाओगी।
तुम बदल जाओगी।
Rj Anand Prajapati
*मौत आग का दरिया*
*मौत आग का दरिया*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
*कलम उनकी भी गाथा लिख*
*कलम उनकी भी गाथा लिख*
Mukta Rashmi
गुरु अंगद देव
गुरु अंगद देव
कवि रमेशराज
शब्द भावों को सहेजें शारदे माँ ज्ञान दो।
शब्द भावों को सहेजें शारदे माँ ज्ञान दो।
Neelam Sharma
एहसास
एहसास
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
आवाजें
आवाजें
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
नए मुहावरे में बुरी औरत / MUSAFIR BAITHA
नए मुहावरे में बुरी औरत / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
Second Chance
Second Chance
Pooja Singh
आवश्यकता पड़ने पर आपका सहयोग और समर्थन लेकर,आपकी ही बुराई कर
आवश्यकता पड़ने पर आपका सहयोग और समर्थन लेकर,आपकी ही बुराई कर
विमला महरिया मौज
इंसान कहीं का भी नहीं रहता, गर दिल बंजर हो जाए।
इंसान कहीं का भी नहीं रहता, गर दिल बंजर हो जाए।
Monika Verma
प्रियवर
प्रियवर
ब्रजनंदन कुमार 'विमल'
💐प्रेम कौतुक-543💐
💐प्रेम कौतुक-543💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
प्रेम 💌💌💕♥️
प्रेम 💌💌💕♥️
डॉ० रोहित कौशिक
जीवन मंथन
जीवन मंथन
Satya Prakash Sharma
Loading...